ट्रेंडिंग न्यूज़

अगला लेख

अगली खबर पढ़ने के लिए यहाँ टैप करें

Hindi News बिहारBihar Monsoon: कैमूर छोड़ पूरे बिहार में बारिश, किशनगंज के रास्ते मानसून की एंट्री; सबसे ज्यादा पूर्णिया में वर्षा

Bihar Monsoon: कैमूर छोड़ पूरे बिहार में बारिश, किशनगंज के रास्ते मानसून की एंट्री; सबसे ज्यादा पूर्णिया में वर्षा

बिहार में आखिरकार मानसून की एंट्री हो गई है। किशनगंज के रास्ते 10 जिलों में मानसून प्रवेश कर गया है। आज पूरे बिहार में बारिश हुई, सिर्फ कैमूर को छोड़कर सबसे ज्यादा पूर्णिया में बादल बरसे।

Bihar Monsoon: कैमूर छोड़ पूरे बिहार में बारिश, किशनगंज के रास्ते मानसून की एंट्री; सबसे ज्यादा पूर्णिया में वर्षा
Sandeepलाइव हिन्दुस्तान,पटनाThu, 20 Jun 2024 02:47 PM
ऐप पर पढ़ें

आखिरकार बिहारवासियों को भीषण गर्मी से निजात मिल गई। गुरूवार तड़के कैमूर को छोड़कर पूरे बिहार में बारिश हुई। जिससे तापमान में भारी गिरावट दर्ज की गई है। सबसे ज्यादा बारिश पूर्णिया में 126 मिमी, सुपौल में 94 मिमी, किशनगंज 82.4, पूर्वी चंपारण 74, अररिया, 72, सीवान, 66.2, जुमई 60, गोपालगंज 57, कटिहार 56, मिमी बारिश इन जिलों के अलग-अलग हिस्सों में हुई।

वहीं अगर बात तापमान की करें तो आज सबसे ज्यादा पारा 42.8 डिग्री औरंगाबाद का रहा, वहीं सबसे कम तापमान 21 डिग्री मोतिहारी का रहा। पूरे प्रदेश में बारिश की स्थिति बनी हुई है। बिहार में मानसून किशनगंज, पूर्णिया के रास्ते प्रवेश कर गया है। मौसम विभाग के निदेशक सुनील नारायण थुल ने जानकारी देते हुए बताया कि बिहार के लगभग 10 जिलों में मानसून प्रवेश कर गया है। ऐसे में अब आने वाले दिनों में राज्य के अलग-अलग हिस्सों में बारिश जारी रहेगी। 

आपको बता दें इससे पहले मौसम विभाग ने अररिया, किशनगंज, सुपौल, कटिहार और पूर्णिया में 20 और 21 जून को भारी बारिश का ऑरेंज अलर्ट जारी किया था। जबकि 22 जून को इन जिलों के अलावा सीतामढ़ी, दरभंगा, मुजफ्फरपुर, मधुबनी, पूर्वी चंपारण और पश्चिमी चंपारण में एक दो स्थानों पर भारी बारिश के आसार हैं। राज्य के अन्य जिलों में विशेषकर उत्तर बिहार में 21 जून से 23 जून के बीच गरज तड़क के साथ बारिश के आसार हैं। 

पिछले 18 दिनों से पश्चिम बंगाल और बिहार की सीमा पर इस्लामपुर में अटके मानसून करंट के प्रसार की परिस्थतियां अब तेजी से तैयार होने लगी हैं। इसके मुताबिक 21 से 22 जून तक बिहार में किशनगंज-पूर्णिया के रास्ते मानसून की दस्तक हो सकती है। मानसून के आगमन के साथ ही तापमान में चार डिग्री कमी आ सकती है। इधर मानसून के आगमन की देरी से बिहार में 70 प्रतिशत तक बारिश की कमी हो गई है।