ट्रेंडिंग न्यूज़

अगला लेख

अगली खबर पढ़ने के लिए यहाँ टैप करें

Hindi News बिहारपप्पू यादव जीते, पवन सिंह ने उपेंद्र कुशवाहा को हरवाया, बाकी निर्दलीय का क्या हुआ?

पप्पू यादव जीते, पवन सिंह ने उपेंद्र कुशवाहा को हरवाया, बाकी निर्दलीय का क्या हुआ?

Bihar Independents Result: बिहार में वैसे तो हर सीट पर कई निर्दलीय उम्मीदवार लड़ रहे थे लेकिन कुछ बड़े नेता और चर्चित लोग भी इंडिपेंडेंड कैंडिडेट बनकर उतर गए थे। जानिए उन सबका क्या हुआ।

पप्पू यादव जीते, पवन सिंह ने उपेंद्र कुशवाहा को हरवाया, बाकी निर्दलीय का क्या हुआ?
bihar lok sabha results independent pappu yadav hena shahab pawan singh vinod yadav gunjan singh ana
Ritesh Vermaलाइव हिन्दुस्तान,पटनाWed, 05 Jun 2024 08:59 PM
ऐप पर पढ़ें

बिहार की 40 लोकसभा सीटों के चुनाव नतीजों में एनडीए 30 सीट और इंडिया गठबंधन 9 सीट जीती जबकि एक पूर्णिया सीट निर्दलीय पप्पू यादव जीत गए। हर सीट पर कई निर्दलीय उम्मीदवार मैदान में थे लेकिन चर्चा में लगभग एक दर्जन इंडिपेंडेंट कैंडिडेट आए। तीन टॉप निर्दलीय उम्मीदवारों में पप्पू यादव ने पूर्णिया में जेडीयू के संतोष कुशवाहा को हराया जो दो बार से सांसद का चुनाव जीत रहे थे। पप्पू यादव ने तो आरजेडी कैंडिडेट बीमा भारती की जमानत जब्त करवा दी। पूर्णिया सीट राज्य की सबसे हॉट सीट बनी हुई थी जहां सीएम नीतीश कुमार ने भी काफी जोर लगाया था। आरजेडी नेता तेजस्वी यादव ने तो यहां कैंप ही कर दिया था। पप्पू को 567556, संतोष को 543709 और बीमा को 27120 वोट मिले। पप्पू ने 23847 वोट से जीत दर्ज की।

काराकाट लोकसभा सीट पर भोजपुरी फिल्मों के सुपरस्टार पवन सिंह ने निर्दलीय लड़कर राष्ट्रीय लोक मोर्चा के अध्यक्ष और एनडीए कैंडिडेट उपेंद्र कुशवाहा को तीसरे नंबर पर पहुंचा दिया। पवन सिंह खुद दूसरे नंबर पर अटक गए। ये सीट सीपीआई-माले के राजाराम सिंह कुशवाहा ने जीती। राजाराम सिंह को 380581, पवन सिंह को 274723 और उपेंद्र कुशवाहा को 253876 वोट मिले। आसनसोल में भाजपा से मिला टिकट लौटाकर काराकाट से लड़े पवन सिंह अपना पहला चुनाव 105858 वोट से हार गए।

हेना शहाब ने आरजेडी को तीसरे पर पहुंचाया, बक्सर में फुस्स हो गए आनंद मिश्रा

सीवान लोकसभा में हेना शहाब मजबूती से लड़ीं और आरजेडी के अवध बिहारी चौधरी को तीसरे नंबर पर पहुंचाकर जेडीयू की विजयलक्ष्मी कुशवाहा से हार गईं। हेना इससे पहले भी आरजेडी कैंडिडेट के तौर पर लड़ी हैं लेकिन कभी जीत नहीं पाईं। विजयलक्ष्मी को 386508, हेना को 293651 और अवध बिहारी चौधरी को 198823 वोट मिला। हेना शहाब सीवान का चुनाव 92857 वोट से हार गईं।

बक्सर लोकसभा सीट पर बहुचर्चित आईपीएस अफसर आनंद मिश्रा भी हार गए। आनंद मिश्रा 47409 वोट ही जुटा सके और चौथे नंबर पर रहे। बक्सर में सुधाकर सिंह 438345 वोट के साथ जीत गए। दूसरे नंबर पर भाजपा के मिथिलेश तिवारी रहे जिनको 408254 वोट मिला। बसपा के अनिल कुमार ने 114714 वोट लाया जो आगे के चुनाव में बिहार के मुख्यधारा के गठबंधन में उनकी दावेदारी को मजबूत कर सकता है। बक्सर में एक और चर्चित निर्दलीय लड़े थे। ददन पहलवान। पूर्व विधायक ददन पहलवान को 15836 वोट आया। 

नवादा में राजबल्लभ यादव की हवा निकली, भोजपुरी गायक गुंजन सिंह भी नहीं चले

नवादा लोकसभा सीट पर भाजपा के विवेक ठाकुर और आरजेडी के श्रवण कुशवाहा का रास्ता रोकने के लिए दो-दो चर्चित निर्दलीय मैदान में थे। आरजेडी के बागी विनोद यादव और भोजपुरी गायक गुंजन सिंह। विनोद यादव को 39519 वोट मिला जबकि गुंजन सिंह को 29682 वोट ही आया। विवेक ठाकुर ने यह सीट 67670 वोट के अंतर से जीती। विवेक ठाकुर को 410608 वोट मिले। दूसरे नंबर पर रहे आरजेडी के श्रवण कुशवाहा को 342938 मत मिले। विनोद यादव आरजेडी के दबंग नेता राजबल्लभ यादव के भाई हैं जो बागी हो गए लेकिन उनकी हवा निकल गई।

वाल्मीकि नगर लोकसभा सीट से कांग्रेस के बागी नेता प्रवेश मिश्रा निर्दलीय उतरे थे लेकिन 23225 वोट ही पा सके। इस सीट पर जेडीयू के सुनील कुमार 523422 वोट लाकर 98675 वोट के अंतर से जीते। आरजेडी के दीपक यादव 424747 वोट के साथ दूसरे नंबर पर रहे। प्रवेश मिश्रा इस सीट पर कांग्रेस का टिकट मांग रहे थे लेकिन सीट गठबंधन में आरजेडी को चली गई। तीसरे नंबर पर रहने का संतोष प्रवेश को मिला।

उपेंद्र कुशवाहा की पार्टी के बागी बैद्यनाथ मेहता सुपौल में तीसरे नंबर पर रहे

सुपौल लोकसभा सीट पर उपेंद्र कुशवाहा की पार्टी रालोमो से बगावत कर निर्दलीय लड़े बैद्यनाथ मेहता भी तीसरे नंबर पर अटक गए। पप्पू, पवन और हेना को छोड़ दें तो सारी निर्दलीय में बैद्यनाथ का प्रदर्शन सबसे अच्छा रहा है। कुशवाहा ने पूर्वी आईआरएस अधिकारी मेहता को चुनाव लड़ने की तैयारी करने कहा था जब उन्हें तीन सीटें मिलने की उम्मीद थी। नीतीश कुमार की एनडीए में वापसी के बाद भाजपा ने उपेंद्र कुशवाहा को एक सीट काराकाट दी जहां वो खुद लड़े और तीसरे नंबर पर रहे। बैद्यनाथ मेहता को 51652 वोट मिला। सुपौल में जेडीयू के दिलेश्वर कमैत 595038 वोट लाकर 169803 वोट के अंतर से जीत गए। आरजेडी के चंद्रहास चौपाल 425235 वोट के साथ दूसरे नंबर पर रहे।

शिवहर लोकसभा सीट पर निर्दलीय लड़े भगवाधारी संत योगी अखिलेश्वर दास भी तीसरे नंबर पर रह गए। अखिलेश्वर दास को 29094 वोट मिले। शिवहर सीट से जेडीयू कैंडिडेट लवली आनंद 29143 वोट के अंतर से आरजेडी की रितु जायसवाल से जीती हैं। लवली आनंद को 476612 वोट मिले जबकि रितु जायसवाल को 447469 मत हासिल हुए।

सारण में निर्दलीय लक्ष्मण यादव ने लालू की बेटी रोहिणी को हरवा दिया

सारण लोकसभा सीट पर आरजेडी अध्यक्ष लालू यादव की बेटी रोहिणी आचार्या को एक निर्दलीय यादव कैंडिडेट ने हरवा दिया। निर्दलीय लक्ष्मण यादव 22043 वोट के साथ तीसरे नंबर पर रहे जबकि रोहिणी यह सीट बीजेपी के राजीव प्रताप रूडी से महज 13661 वोट से हार गईं। रूडी को 471752 वोट मिले जबकि रोहिणी को 458091 वोट हासिल हुआ।

जहानाबाद में भूमिहार नेता आशुतोष कुमार पांचवें नंबर पर रहे

जहानाबाद लोकसभा में दो-दो निर्दलीय चर्चा में थे। एक भूमिहार नेता आशुतोष कुमार और दूसरे आरजेडी के बागी पूर्व विधायक मुनिलाल यादव। आशुतोष पांचवें और मुनिलाल छठे नंबर पर रहे। आशुतोष कुमार को 13213 वोट मिला जबकि मुनिलाल यादव को 13029 वोट। जहानाबाद सीट आरजेडी के सुरेंद्र प्रसाद यादव ने 142591 वोट के अंतर से जीती। सुरेंद्र यादव को 443035 वोट मिले जबकि उनसे हारे जेडीयू के सांसद चंदेश्वर प्रसाद चंद्रवंशी को 300444 वोट मिला। बसपा से लड़े अरुण कुमार तीसरे नंबर पर रहे जिन्हें 86380 वोट मिला।