DA Image
हिंदी न्यूज़   ›   बिहार  ›  प्रेमिका बना रही थी शादी के लिए दबाव, प्रेमी ने मां के साथ मिलकर उठाया ये खौफनाक कदम

बिहारप्रेमिका बना रही थी शादी के लिए दबाव, प्रेमी ने मां के साथ मिलकर उठाया ये खौफनाक कदम

निज प्रतिनिधि,जहानाबादPublished By: Sneha Baluni
Thu, 18 Mar 2021 08:44 PM
प्रेमिका बना रही थी शादी के लिए दबाव, प्रेमी ने मां के साथ मिलकर उठाया ये खौफनाक कदम

कल्पा ओपी के मचला स्थित पइन के किनारे 10 मार्च को मिली एक महिला की सिर कटी लाश के मामले का एसपी ने उद्भेदन कर लिया है। एसपी दीपक रंजन के नेतृत्व में गठित एसआईटी में शामिल एसडीपीओ अशोक कुमार पांडेय, कलपा ओपी के प्रभारी राजेश कुमार व अन्य ने घटनास्थल के पास से मिले महिला के पैन कार्ड और मोबाइल नंबर के आधार पर एक सप्ताह के भीतर वैज्ञानिक अनुसंधान कर पूरे मामले का उद्भेदन करने में सफलता हासिल किया है। 

अनुसंधान में यह खुलासा हुआ की वर्ष 2006 से दिल्ली में अपने पति और तीन बच्चों के साथ रहने वाली अनीता देवी की हत्या उसके प्रेमी राजेश कुमार ने अपनी मां के साथ मिलकर योजनाबद्ध तरीके से की थी। छह लोगों ने मिलकर हत्या की घटना को अंजाम दिया था। इस मामले में पुलिस ने नालंदा जिला के खुदागंज थाना अंतर्गत अर्जुन सरथुआ गांव के निवासी राजेश कुमार, उसकी मां शोभा देवी उर्फ कुंती देवी एवं जहानाबाद के लरसा गांव के निवासी दिलीप चौधरी को गिरफ्तार किया है। 

मचला में गर्दन काटने के बाद महिला के सिर को थोड़ी ही दूर पर एक झाड़ी में छिपा दिया था जिसे पुलिस ने बरामद कर लिया है। गुरुवार को पुलिस ऑफिस में एसपी दीपक रंजन ने प्रेस कांफ्रेंस आयोजित कर पूरे मामले की विस्तार से जानकारी दी। उन्होंने बताया कि हत्या की घटना में शामिल तीन अन्य लोगों को पकड़ने के लिए अग्रेतर कार्रवाई की जा रही है। महिला के एक आठ वर्षीय पुत्र शिवम को पुलिस नासरीगंज- दानापुर के बिस्कुट फैक्ट्री रोड स्थित एक कमरे से बरामद कर जहानाबाद लाई है। उसे उसके पिता अमलेश कुमार को सौंप दिया गया है।

शव के पास मिले पैन कार्ड से शुरू हुआ पुलिस का अनुसंधान
एसपी ने बताया कि मचला बधार में महिला की सिर कटी लाश के पास से उसका पैन कार्ड और कुछ मोबाइल नंबर पुलिस को मिले था, जिसके आधार पर एसआईटी ने वैज्ञानिक अनुसंधान शुरू किया था। पुलिस को पता चला की महिला का नाम अनीता देवी और उसके पति का नाम अमलेश कुमार है, जो मूल रूप से छपरा जिला के दरियापुर थाना अंतर्गत धरमचक गांव के हैं। 

अनीता और अमलेश ने वर्ष 2006 में भागकर शादी रचा ली थी और दिल्ली के मुंडका थाना अंतर्गत हीरा मार्केट, बाबा हरिदास कॉलोनी में रह रहे थे। मृतका की दो बच्ची एवं एक पुत्र है। इसी बीच दिल्ली में रहने के दौरान मृतिका का प्रेम संबंध राजेश कुमार के साथ हो गया था। राजेश नालंदा जिला के खुदागंज थाना अंतर्गत अर्जुन सरथुआ गांव के निवासी चंद्रशेखर पासवान का बेटा है जो अपने पूरे परिवार के साथ दिल्ली में रहता था और उसका अनीता के साथ प्रेम संबंध हो गया था। 

बताया जाता है कि इस कारण अनीता के ससुराल वाले उससे नाराज भी रहते थे। अनीता राजेश पर शादी के लिए दबाव बनाने लगी थी। राजेश ने अपनी मां शोभा देवी उर्फ कुंती देवी एवं दिलीप चौधरी समेत अपने तीन अन्य साथियों के साथ मिलकर उसकी हत्या की योजना बनाई थी।

हत्या के चार-पांच दिन पूर्व दिल्ली से दानापुर आई थी महिला
अनुसंधान के क्रम में एसपी को पता चला के अनीता अपने पुत्र शिवम के साथ अपनी हत्या के चार-पांच दिन पहले दिल्ली से दानापुर आई थी और वहां नासरीगंज के बिस्कुट फैक्ट्री रोड स्थित एक कमरे में रह रही थी। पीछे से राजेश और उसकी मां भी दिल्ली से जहानाबाद आ गए। 10 हजार रुपये सुपारी लेकर उसकी गर्दन काटने का अपराधियों के बीच सौदा हुआ था। 

एक साजिश के तहत सभी अभियुक्तों ने 9 मार्च को अनीता को जहानाबाद बुलाया और फिर रात में मचला बधार में ले जाकर गड़ासे से गर्दन काट कर उसकी हत्या कर दी गई। उसके सिर को घटनास्थल से 400 गज की दूरी पर एक झाड़ी में छुपा कर रखा था, जिसे पुलिस ने बरामद किया। एसपी के निर्देशन में गठित एसआईटी के द्वारा दिल्ली जाकर राजेश और उसकी मां को जहानाबाद लाया गया। 

पूछताछ में दोनों ने अपने अपराध स्वीकार कर सभी राज खोले। उसके बाद दिलीप चौधरी की गिरफ्तारी हुई और फिर महिला के पुत्र शिवम कुमार को दानापुर से बरामद कर जहानाबाद लाया गया। सूचना पाकर उक्त महिला के पति अमलेश कुमार जहानाबाद आए। एसपी ने उसे उनके पुत्र को सौंपा।

संबंधित खबरें