ट्रेंडिंग न्यूज़

अगली खबर पढ़ने के लिए यहाँ टैप करें

हिंदी न्यूज़ बिहारप्रेमिका के आंगन में प्रेमी को दफनायाः विवाहिता से प्रेम संबंध में स्वर्ण कारोबारी की हत्या, जमीन खोदकर निकाला गया शव; जानें क्या है मामला

प्रेमिका के आंगन में प्रेमी को दफनायाः विवाहिता से प्रेम संबंध में स्वर्ण कारोबारी की हत्या, जमीन खोदकर निकाला गया शव; जानें क्या है मामला

रोसड़ा थानाध्यक्ष रामाशीष कामती ने बताया कि प्रेम प्रसंग में स्वर्ण व्यवसायी की हत्या हुई है। हिरासत में ली गयी महिला से व्यवसायी शिवव्रत का अवैध संबंध था। महिला व उसके पति से पूछताछ की जा रही है।

प्रेमिका के आंगन में प्रेमी को दफनायाः विवाहिता से प्रेम संबंध में स्वर्ण कारोबारी की हत्या, जमीन खोदकर निकाला गया  शव;  जानें क्या है मामला
Sudhir Kumarहिन्दुस्तान,समस्तीपुरWed, 18 May 2022 01:42 PM

इस खबर को सुनें

0:00
/

बिहार के समस्तीपुर में अवैध प्रेम संबंध में एक युवा स्वर्ण व्यवसायी की गले मे फंदा लगा हत्या कर दी गयी। उसकी लाश हसनपुर थाना क्षेत्र के मोहिउद्दीनपुर में एक घर से बीती रात पुलिस ने बरामद की। इस मामले में पुलिस एक महिला और उसके पति को हिरासत में लेकर पूछताछ कर रही है। मृतक स्वर्ण व्यवसायी शिवव्रत कुमार (23)रोसड़ा शहरी क्षेत्र के लक्ष्मीपुर मोहल्ला निवासी राजकिशोर ठाकुर का पुत्र था। वह 14 मई से ही लापता था।

शिवव्रत का शव मंगलवार की रात हिरासत में ली गयी महिला के घर के आंगन में मिट्टी तले दबा मिला। मृतक की जीभ और और आंख बाहर की ओर निकली हुई थी। पुलिस ने शव को कब्जे में लेकर पोस्टमार्टम के लिए भेज दिया है। इस संबंध में रोसड़ा थानाध्यक्ष रामाशीष कामती ने बताया कि प्रेम प्रसंग में स्वर्ण व्यवसायी की हत्या हुई है। मामले में हिरासत में ली गयी महिला से व्यवसायी शिवव्रत का अवैध संबंध था। महिला रौनक खातून व उसके पति मो. शाहजहां को हिरासत में लेकर पूछताछ की जा रही है।

थानाध्यक्ष ने बताया कि मृतक के भाई ने थाना में आवेदन देकर उसके अपहरण की प्राथमिकी दर्ज करायी थी। जिसमें बीते 14 मई की शाम से शिवव्रत के गायब रहने की बात कही थी। आवेदन में रौनक खातून पर आशंका जाहिर की गई थी । छानबीन के क्रम में पुलिस ने जब रौनक खातून को हिरासत में लेकर पूछताछ की तो उसने राज उगल दिया। उसी निशानदेही पर पुलिस ने उसके आंगन से ही मिट्टी के नीचे दबाकर रखे शव को बरामद किया। हत्या का साक्ष्य छिपाने के लिए शव को आंगन में दफनाकर उसके उपर जलावन डाल दिया गया था।

 

epaper