DA Image
28 फरवरी, 2020|6:45|IST

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

पटना को 'डुबोने' वालों पर कार्रवाई, IAS अधिकारी समेत तीन अफसर निलंबित

patna flood and water lodging in sep-oct 2019

पटना को डुबोने के मामले में अफसरों पर कार्रवाई शुरू कर दी गई है। आईएएस अधिकारी और बुडको के तत्कालीन प्रबंध निदेशक अमरेन्द्र प्रसाद सिंह को निलंबित कर दिया गया है। बिहार प्रशासनिक सेवा के अधिकारी और नगर निगम के दो कार्यपालक पदाधिकारियों पर भी निलंबन की गाज गिरी है। सामान्य प्रशासन विभाग ने शुक्रवार को इससे संबंधित आदेश जारी कर दिया है।

मॉनसून के दौरान पटना के कई इलाकों में भारी जलजमाव के दौरान अमरेन्द्र प्रसाद सिंह बुडको के प्रबंध निदेशक (एमडी) थे। सरकार द्वारा जलजमाव को लेकर गठित उच्च स्तरीय समिति की रिपोर्ट में उनके कामकाग को लेकर कई खामियां गिनाई गई थी। 39 संप हाउस के लिए समय पर डीजल की आपूर्ति नहीं करने, खराब पंपिंग सेट व ट्रांसफॉमरों की मरम्मत की व्यवस्था सुनिश्चित नहीं करने और जल जमाव की समस्या से निपटने के लिए प्रशिक्षित मानव बल की कीम को दूर नहीं कर पाने के लिए उन्हें जिम्मेदार माना गया है। इन खामियों को उनके कमजोर नेतृत्व क्षमता के तौर पर देखा गया। पथ परिवहन निगम में प्रशासक के पद पर तैनात थे।

शैलेश कुमार व वीरेन्द्र कुमार तरूण भी निलंबित
समिति की रिपोर्ट के बाद बिहार प्रशासनिक सेवा के दो अफसरों- नूतन राजधानी अंचल के कार्यपालक पदाधिकारी शैलेश कुमार और बांकीपुर अंचल के कार्यपालक पदाधिकारी वीरेन्द्र कुमार तरूण को निलंबित कर दिया गया है। इनपर बरसात पूर्व नाला उड़ाही के कार्य में लापरवाही बरतने का आरोप है। जांच समिति ने जब जल जमाव को लेकर छानबीन की तो नालों में गाद भरा पड़ा था। जांच रिपोर्ट के आधार पर नगर विकास एवं आवास विभाग ने कार्रवाई की अनुशंसा की थी।

विभागीय कार्यवाही भी चलेगी 
इनके खिलाफ विभागीय कार्यवाही भी चलेगी। इसका आदेश अलग से जारी होगा। जांच रिपोर्ट में कंकड़बाग अंचल की तत्कालीन कार्यपालक पदाधिकारी पूनम कुमारी को भी दोषी माना गया था। हालांकि उन्हें निलंबित करने का आदेश अभी जारी नहीं हुआ है।

  • Hindi News से जुड़े ताजा अपडेट के लिए हमें पर लाइक और पर फॉलो करें।
  • Web Title:Bihar Government Suspended Three Official Including One IAS Responsible For Water Lodging And Flood In Patna Bihar Last Year