DA Image
हिंदी न्यूज़   ›   बिहार  ›  पिछले तीन दिनों से उत्तर बिहार में जारी है बारिश का कहर, कई इलाकों पर छाया बाढ़ का खतरा, नदियों का बढ़ रहा जलस्तर
बिहार

पिछले तीन दिनों से उत्तर बिहार में जारी है बारिश का कहर, कई इलाकों पर छाया बाढ़ का खतरा, नदियों का बढ़ रहा जलस्तर

हिन्दुस्तान ब्यूरो,गोपालगंजPublished By: Sneha Baluni
Thu, 17 Jun 2021 01:20 PM
पिछले तीन दिनों से उत्तर बिहार में जारी है बारिश का कहर, कई इलाकों पर छाया बाढ़ का खतरा, नदियों का बढ़ रहा जलस्तर

नेपाल के तराई और गंडक नदी के जलग्रहण क्षेत्रों में लगातार बारिश जारी रहने से गोपालगंज जिले के तटवर्ती इलाके में बाढ़ की स्थिति गंभीर होती जा रही है। बाढ़ का पानी तटबंध व छरकियों के अंदर और नदी किनारे के गांवों में प्रवेश कर रहा है। अब तक सदर प्रखंड के 7, कुचायकोट के 1, मांझा के 8 व बैकुंठपुर के 15 गांव बाढ़ की चपेट में आ चुके हैं। वहीं सिधवलिया के 4 गांव पानी से घिर गए हैं। दुखद यह है कि नदी का जलस्तर लगातार बढ़ता जा रहा है। जिससे कई अन्य नए गांवों में पानी प्रवेश करने की संभावना बढ़ गई है। जलस्तर में प्रति घंटे चार से 5 से 10 सेंटीमीटर की बढ़ोतरी हो रही है।

पिछले तीन दिनों से उत्तर बिहार बारिश का कहर जारी है। इसके कारण बाढ़ का खतरा बढ़ गया है। मिथिलांचल के कमला-बलान, जीवछ और कोसी में पानी काफी तेजी से बढ़ रहा है। वहीं वाल्मीकि बराज से गुरुवार सुबह फिर पानी छोड़ा गया है। आज 2.80 लाख क्यूसेक पानी छोड़ा गया है। बगहा के शहरी पीएचसी में गंडक नदी का पानी घुस गया है। इससे पीएचसी में ओपीडी का कार्य प्रभावित हुआ है।

दूसरी ओर मोतिहारी जिले के सुगौली और अरेराज में बाढ़ तबाही मचाने लगी है। सुगौली थाना परिसर में पानी घुस गया है। सुगौली नगर पंचायत के आधा दर्जन वार्ड व ग्रामीण क्षेत्रों जबकि अरेराज के नवादा में बाढ़ का पानी घुस गया है। मुजफ्फरपुर के साहेबगंज, पारू के साथ ही औराई, कटरा और गायघाट में स्थिति गंभीर हो गई है।

गोपालगंज में लाल निशान से 177 सेमी उपर बह रही गंडक  
जल संसाधन विभाग के इंजीनियरों के अनुसार बाल्मिकी नगर बराज से लगातार तीन लाख क्यूसेक से अधिक पानी छोड़े जाने व नदी के जलग्रहण क्षेत्र में चार दिनों तक हुई भारी बारिश के कारण गंडक नदी विशंभरपुर में खतरे के निशान से 177 सेमी, पतहरा में 150 सेमी व मटियारा रिंग बांध के पास नदी खतरे के निशान से 65 सेमी उपर बह रही है। 

संबंधित खबरें