DA Image
हिंदी न्यूज़ › बिहार › प्रिंसिपल पर भड़के प्रधान सचिव, कहा- लगता है स्कूल में कभी झाड़ू नहीं लगाई जाती है
बिहार

प्रिंसिपल पर भड़के प्रधान सचिव, कहा- लगता है स्कूल में कभी झाड़ू नहीं लगाई जाती है

पटना, हिन्दुस्तान टीमPublished By: Malay Ojha
Fri, 29 Jan 2021 01:52 PM
प्रिंसिपल पर भड़के प्रधान सचिव, कहा- लगता है स्कूल में कभी झाड़ू नहीं लगाई जाती है

स्कूल कैंपस देखकर नहीं लगता है कि कभी यहां झाड़ू लगाई जाती है। स्कूल के बाहरी भाग से लेकर कॉरिडोर और क्लास रूम तक में गंदगी फैली हुई है। राजधानी पटना के बांकीपुर बालिका उच्च माध्यमिक विद्यालय की दशा देख शिक्षा विभाग के प्रधान सचिव संजय कुमार बिफर पड़े। उन्होंने तुरंत प्राचार्य को बुलाया। प्राचार्य से कहा कि इतने बड़े परिसर को नरक बनाकर रखा हुआ है। स्कूल परिसर की सफाई क्यों नहीं होती है। 

एक कार्यक्रम के सिलसिले में गुरुवार दोपहर 12 बजे प्रधान सचिव संजय कुमार बांकीपुर बालिका उच्च माध्यमिक विद्यालय पहुंचे थे। विद्यालय में प्रवेश करने के बाद प्रधान सचिव स्कूल परिसर देखने लगे। चारों तरफ गंदगी ही गंदगी थी। इससे वो प्राचार्य मीना कुमारी के ऊपर काफी नाराज हुए। स्कूल परिसर के बाहरी भाग देखने के बाद प्रधान सचिव प्लस टू भवन की कक्षाओं में भी घूमे। सभी कक्षाओं में काफी गंदगी फैली हुई थी। प्रधान सचिव ने कहा कि हर दिन झाड़ू तो लगवा दिया कीजिए। माध्यमिक शिक्षा के निदेशक गिरिवर दयाल ने प्राचार्य से कहा कि जल्द ही स्कूल की सफाई करवायें। उन्होंने प्राचार्य से कहा कि जब स्कूल परिसर में इतना अच्छा प्राचार्य के लिए क्वार्टर है तो फिर आप यहां पर क्यों नहीं रहती हैं। प्राचार्य को क्वार्टर में रहने का निर्देश दिया। 

इंटर परीक्षा के पहले स्कूल को करें चकाचक 
पटना डीईओ ज्योति कुमार ने प्राचार्य को स्कूल को जल्द से जल्द सुधार करने का निर्देश दिया। उन्होंने कहा कि स्कूल में सफाई और खूबसूरत करने का काम अगले दो दिन में कर लेना है। उन्होंने कहा कि एक फरवरी से इंटर की परीक्षा शुरू होगी। इससे पहले सारी तैयारी हो जानी चाहिए। डीईओ ज्योति कुमार ने प्राचार्य से कहा कि विकास कोष में रखी राशि से विकास का काम करना है। 

ये निर्देश दिए
- स्कूल के मुख्य गेट को पेंट करना है, साथ में स्कूल के नाम के बोर्ड को पेंट कर स्पष्ट लिखवाना है
- बगीचे की दीवार को पेंट करना है, पूरा साफ कर नये पौधे लगवाना है
- शौचालय की पूरी सफाई करवानी है, टूटे हुए गेट को बनवाएं
- परिसर के पेड़ को उजले रंग से रंगवाना है
- सारे गमले को लाल रंग से रंगे 

संबंधित खबरें