ट्रेंडिंग न्यूज़

Hindi News बिहारस्कूल टाइमिंग में हुए बदलाव की क्या है सच्चाई? केके पाठक ने बताया

स्कूल टाइमिंग में हुए बदलाव की क्या है सच्चाई? केके पाठक ने बताया

बिहार में स्कूल की टाइमिंग को लेकर जो फर्जी पत्र जारी हुआ था, उस पत्रांक नंबर के साथ दिनांक आदि सब कुछ डाला गया था। पत्र को देखकर शायद ही कोई कह सकता था कि वह लेटर फर्जी है।

स्कूल टाइमिंग में हुए बदलाव की क्या है सच्चाई? केके पाठक ने बताया
Malay Ojhaहिन्दुस्तान,पटनाWed, 28 Feb 2024 09:50 PM
ऐप पर पढ़ें

बिहार के सरकारी स्कूलों के समय में बदलाव को लेकर बुधवार को एक फर्जी पत्र वायरल हो गया। देखते ही देखते यह पत्र शिक्षा विभाग के पदाधिकारियों समेत राज्यभर के  शिक्षकों के मोबाइल तक पहुंच गया। फर्जी पत्र के संज्ञान में आते ही विभाग ने इसपर गंभीरता दिखाई। शिक्षा विभाग के अपर मुख्य सचिव केके पाठक ने देर शाम को वीडियो कांफ्रेंसिंग में सभी जिलों के पदाधिकारियों से भी इस पत्र की चर्चा की। उन्होंने बताया कि एक फर्जी पत्र वायरल हुआ है, जिसपर ध्यान नहीं देना है। 

गौरतलब है कि इस पत्र में बताया गया है कि स्कूलों में शिक्षक 9.45 बजे आएंगे और शाम 4.15 बजे चले जाएंगे। बच्चे सुबह दस से चार बजे तक स्कूल में रहेंगे। शनिवार को दोपहर दो बजे स्कूलों में छुट्टी होगी। इस पत्र में पहली से आठवीं घंटी तक का समय भी दिया हुआ है। पत्र में विभाग के माध्यमिक निदेशक कन्हैया प्रसाद श्रीवास्तव का हस्ताक्षर भी दिखाया गया है। इस संबंध में पूछे जाने पर माध्यमिक निदेशक ने कहा है कि स्कूल समय को लेकर जो पत्र वायरल हुआ है, वह फर्जी है। उन्होंने ऐसा कोई पत्र जारी नहीं किया है। 

बता दें कि शिक्षा विभाग के नाम पर जो फर्जी पत्र सामने आया था, उसमें लिखा गया था कि स्कूल का समय सुबह 10 से चार बजे तक रहेगा। छात्रों को स्कूल 10 बजे आना है। वहीं शिक्षकों के लिए निर्देश दिया गया था कि उन्हें 9:45 बजे तक स्कूल पहुंचना है। चार बजे छुट्टी होगी और शिक्षकों को 4 बजकर 15 मिनट पर निकलना है।

हिन्दुस्तान का वॉट्सऐप चैनल फॉलो करें