DA Image
19 जनवरी, 2021|4:37|IST

अगली स्टोरी

रूपेश सिंह मर्डर केस: डीजीपी का खुलासा-एयरपोर्ट पर ठेके को लेकर हुई इंडिगो एयरलाइंस के स्टेशन मैनेजर की हत्‍या 

इंडिगो एयरलाइंस के स्टेशन मैनेजर रूपेश कुमार सिंह की हत्‍या एयरपोर्ट पर ठेके को लेकर हुई थी। बिहार के डीजीपी संजीव कुमार सिंघल ने यह खुलासा करते हुए कहा है कि रुपेश की हत्‍या एयरपोर्ट पार्किंग के ठेके को लेकर हुई। उन्‍होंने कहा कि इस ठेके को लेकर बड़ा विवाद चल रहा था। डीजीपी ने दावा किया कि पुलिस रुपेश हत्‍याकांड के खुलासे के करीब है। 

डीजीपी ने कहा कि पुलिस इस हत्‍याकांड के अन्‍य सभी पहलुओं की जांच कर रही है। सीएम नीतीश कुमार ने भी इस केस की जांच के बारे में पूरी जानकारी ली है। उन्होंने कहा कि पुलिस रूपेश हत्‍याकांड की जांच लगभग पूरी कर चुकी है। उन्‍होंने बताया कि कांट्रेक्ट किलर को बुलाकर इस हत्‍याकांड को अंजाम दिया गया। पुलिस ने वारदात के सभी तारों को जोड़ लिया है। जल्‍द ही पूरे घटनाक्रम का खुलासा कर दिया जाएगा। डीजीपी ने कहा कि एयरपोर्ट पार्किंग ठेकेदारी की पूरी जांच हो रही है।  

पुलिस ने की एयरलाइंस की महिला कर्मचारी से पूछताछ 

पटना पुलिस की विशेष टीम ने एक एयरलाइंस कंपनी की महिला कर्मी से पूछताछ की है। पूर्व में महिला कर्मी भी रूपेश के साथ काम करती थी। किसी बात को लेकर महिला कर्मी और रूपेश के बीच विवाद हुआ था। बाद में महिला कर्मी ने नौकरी छोड़ दी और एक दूसरे एयरलाइंस को ज्वाइन कर लिया। 

पुलिस ने उससे विवाद का कारण पूछा। इसके अलावा पुलिस ने इंडिगो एयरलाइंस में ही काम करने वाले एक पूर्व कर्मी से भी पूछताछ की है। यह बात सामने आयी थी कि इस कर्मी को रूपेश ने ही नौकरी से हटाया था। दूसरी ओर पटना पुलिस की टीम सोमवार को जल संसाधन विभाग और पीएचईडी पहुंची थी। इन दोनों विभागों में वे ठेकेदारी करते थे। वहां रूपेश के टेंडर से संबंधित जानकारियां पुलिस टीम ने लीं। रेंज आईजी संजय सिंह ने बताया कि रूपेश लेवल 3 की ठेकेदारी करते थे। लेवल 3 की ठेकेदारी यानी 3 करोड़ से कम का ठेका वे लिया करते थे। रूपेश अपने भाई और बहनोई के नाम पर ठेकेदारी करवाते थे। पुलिस यह पता लगा रही है कि ठेकेदारी को लेकर रूपेश का किसी के साथ विवाद हुआ था या नहीं। दोनों विभागों से वे कई काम ले चुके थे। कई जगहों पर ठेकेदारी का काम पूरा भी हो चुका था। 

एयरपोर्ट पर स्टैंड चलाने वालों से हुई पूछताछ 
रेंज आईजी ने बताया कि एयरपोर्ट पर गाड़ियों का स्टैंड चलाने वालों से भी पुलिस ने पूछताछ की है। दरअसल, पुलिस को यह पता चला था कि स्टैंड को लेकर भी रूपेश का कुछ दिनों पहले विवाद हुआ था। लिहाजा पुलिस ने इस पहलू पर पड़ताल की। हालांकि, पूछताछ के दौरान कुछ ठोस सामने निकलकर सामने नहीं आया। वैसे पुलिस अब भी इस मामले पर तहकीकात कर रही है। 

कांट्रैक्ट किलरों के लिये छापेमारी 
रेंज आईजी ने बताया कि इस ब्लाइंड केस को सुलझाने में पुलिस टीम लगी हुई है। यह तय है कि रूपेश की हत्या सुपारी किलरों से कराई गई है। पुलिस टीम कॉन्ट्रैक्ट किलरों तक पहुंचने की पूरी कोशिश कर रही है। उनकी तलाश में कई जगहों पर छापेमारी की गई। यह भी पता लगाया जा रहा है कि घटना का कारण क्या है। अगर कारण पता चल गया तो मास्टरमाइंड तक भी आसानी से पहुंचा जा सकता है।
 

  • Hindi News से जुड़े ताजा अपडेट के लिए हमें पर लाइक और पर फॉलो करें।
  • Web Title:bihar dgp statement in rupesh singh murder case airlines station manager murdered due to airport contract