DA Image
2 अगस्त, 2020|1:50|IST

अगली स्टोरी

सुशांत सिंह राजपूत मामले की जांच CBI को सौंपने पर बिहार DGP गुप्तेश्वर पांडे का बड़ा बयान

bihar dgp gupteshwar pandey on cbi inquiry in sushant singh rajput death case

डीजीपी गुप्तेश्वर पांडेय ने कहा है कि फिल्म अभिनेता स्व. सुशांत सिंह राजपूत की मौत के मामले का पूरा सच बिहार पुलिस सामने लाएगी। हम रहस्य से पर्दा उठाकर रहेंगे। बिहार पुलिस की टीम मुंबई में कैंप की हुई है और पूरे मामले की छानबीन में जुटी है। हालांकि उन्होंने यह भी कहा कि बिहार पुलिस की टीम को मुंबई पुलिस ने शुरुआत में अपेक्षित सहयोग नहीं की। पर, पटना के वरीय पुलिस अधीक्षक ने वहां बात की और आगे पूरा सहयोग का आश्वासन मुंबई पुलिस ने दिया है।

शनिवार को प्रेस कांफ्रेंस में डीजीपी ने कहा कि हमलोग चाहते हैं कि मुंबई पुलिस सारे कागजात, घटना स्थल का फुटेज, पोस्टमार्टम आदि हमारी टीम को मुहैया कराए। टीम को ऑटो से वहां आना-जाना पड़ता है, इसलिए उन्हें वाहन उपलब्ध कराए। उन्हें सुरक्षा दिलाए। डीजीपी ने कहा कि एक अफवाह फैली कि मुंबई पुलिस ने बिहार की टीम के साथ दुर्व्यवहार किया है, पर यह सच नहीं है। दरअसल मुंबई पुलिस नहीं चाहती है कि पटना से गई हुई टीम वहां की मीडिया से बात करे। इसलिए टीम को वहां की पुलिस मीडिया से बचने के लिए अपने वाहन में बैठाकर ले गई। 

उन्होंने कहा कि सुशांत सिंह के पिता ने पटना के राजीवनगर थाने में 25 जुलाई को इस संबंध में प्राथमिकी दर्ज कराई है और छह लोगों को अभियुक्त बनाया है। बिहार पुलिस की चार सदस्यीय टीम 27 जुलाई को मुंबई पहुंची, जिनमें दो निरीक्षक और दो दारोगा शामिल हैं। 27 को ही टीम सुशांत सिंह के फ्लैट में गई और पूरी जानकारी एकत्र की। फिर सुशांत सिंह की मित्र (उस महिला का नाम मुझे नहीं मालूम) के घर जाकर भी पूरी तहकीकात की है। 28 को सुशांत सिंह के मित्र महेश सेठी से टीम ने बात की और उनके पास से काफी जानकारी मिली है। 28 को टीम बांद्रा की डीसीपी से मिली। 29 को डीसीपी (क्राइम) से मिलने टीम गई, पर घंटों बैठे रहने के बाद भी वे कार्यालय नहीं आए। दो दिन बात 31 जुलाई को टीम से उनकी मुलाकात हुई। टीम ने सुशांत सिंह की मित्र रही अंकिता लोखंडे, उनके कूक आदि से भी बात कर महत्वपूर्ण जानकारी हासिल की है। 

सुप्रीम कोर्ट के फैसले का इंतजार

सुशांत के पिता केके सिंह द्वारा पटना के राजीवनगर थाने में एक एफआईआर दर्ज कराने के बाद इस आत्महत्या मामले की जांच के लिए बिहार पुलिस की टीम मुंबई गई हुई है। बिहार के डीजीपी ने कहा, 'हमारी टीम मुंबई में है और हमारे वरिष्ठ एसपी वहां अपने समकक्ष के साथ लगातार संपर्क में हैं। शुक्रवार को हमारी टीम डीसीपी क्राइम से मिली और उन्होंने आश्वासन दिया कि वे सहयोग करेंगे। वे भी सुशांत सिंह राजपूत आत्महत्या मामले में सुप्रीम कोर्ट के फैसले का इंतजार कर रहे हैं। फिर वे हमें सभी दस्तावेज मुहैया कराएंगे।'

पांच अगस्त को सुप्रीम कोर्ट में सुनवाई

सुशांत के पिता की तरफ से पटना में दर्ज कराई गई एफआईआर में रिया चक्रवर्ती को आरोपी बनाया गया है। रिया ने पटना में दर्ज केस को मुंबई ट्रांसफर करने के लिए सुप्रीम कोर्ट में अर्जी लगाई है। इस मामले में पांच अगस्त को शीर्ष अदालत में सुनवाई होगी। बिहार पुलिस रिया के याचिका का कोर्ट में विरोध करेगी और इसके लिए बिहार सरकार की तरफ से एक कैविएट भी दाखिल किया गया है। वहीं महाराष्ट्र सरकार ने भी शुक्रवार को इस मामले में अपना पक्ष रखने के लिए कैविएट दाखिल किया था। बिहार के डीजीपी के मुताबिक, दोनों पक्षों को इस मामले में फैसला आने का इंतजार है।

'बिहार पुलिस के साथ मुंबई पुलिस बुरा व्यवहार नहीं कर रही'

कई मीडिया रिपोर्ट में दावा किया जा रहा है कि मुंबई पुलिस जांच करने गई बिहार पुलिस की टीम का सहयोग नहीं कर रहे हैं और उनके साथ बुरा व्यवहार कर रही है। इस मामले पर पूछे गए एक सवाल के जवाब में डीजीपी पांडे ने कहा, 'मुंबई गई हमारी टीम ने हमें सूचित किया है कि मुंबई पुलिस ने किसी भी तरह से उनके साथ बुरा व्यवहार नहीं किया है। मैं मुंबई पुलिस द्वारा बिहार पुलिस टीम के साथ दुर्व्यवहार के बारे में चल रही सभी रिपोर्ट्स की निंदा करता हूं।'

सुशांत के पिता CBI जांच की मांग करेंगे तो बिहार सरकार करेगी सिफारिश 

सुशांत सिंह राजपूत मामले की जांच सीबीआई से कराने के मुद्दे पर बिहार के मुख्यमंत्री नीतीश कुमार का बयान भी शनिवार को आया। उन्होंने एक निजी न्यूजचैनल से बात करते हुए कहा कि अगर सुशांत राजपूत के पिता सीबीआई जांच की मांग करते हैं तो बिहार सरकार जरूर सिफारिश करेगी। उन्होंने कहा कि सुशांत के पिता के एफआईआर के बाद भी हमारी पुलिस मुंबई जांच के लिए पहुंची है।

  • Hindi News से जुड़े ताजा अपडेट के लिए हमें पर लाइक और पर फॉलो करें।
  • Web Title:bihar dgp gupteshwar pandey statement on cbi inquiry on sushant singh rajput death case