DA Image
Saturday, November 27, 2021
हमें फॉलो करें :

अगली खबर पढ़ने के लिए यहाँ टैप करें

हिंदी न्यूज़ बिहारअररिया में जमीन विवाद सुलझाने गई पुलिस टीम पर जानलेवा हमला, दारोगा की कटी उंगली

अररिया में जमीन विवाद सुलझाने गई पुलिस टीम पर जानलेवा हमला, दारोगा की कटी उंगली

अररिया हिन्दुस्तान टीमMalay Ojha
Thu, 27 May 2021 11:30 AM
अररिया में जमीन विवाद सुलझाने गई पुलिस टीम पर जानलेवा हमला, दारोगा की कटी उंगली

बिहार के अररिया जिले के सिमराहा थाना क्षेत्र के बोकरा पंचायत स्थित हरिया बटिया में बुधवार को भूमि विवाद में दो पक्षों में हो रही मारपीट को रोकने गई पुलिस पर एक पक्ष ने जानलेवा हमला कर दिया। इस हमले में एक दारोगा गंभीर रूप से घायल हो गए। जबकि कई के चोटिल होने की सूचना है। घायल दारोगा का नाम  अनिल सिंह बताया जाता है। घटना की जानकारी मिलने पर सिमराहा, फारबिसगंज और अररिया थाने की पुलिस घटनास्थल पर पहुंची लेकिन तब तक मारपीट करने वाले सभी लोग मौके से फरार हो गए। हालांकि पुलिस ने मुख्य आरोपी की बेटी को मौके पर ही गिरफ्तार कर लिया। 

घटना के संबंध में बताया जाता है कि मोहम्मद आलम व हयूल के बीच पहले से जमीन विवाद था। बुधवार को आलम द्वारा उक्त जमीन पर मकान बनाने के क्रम में विवाद शुरू हुआ। घटना की जानकारी पर सिमराहा पुलिस पहुंची मगर पुलिस के सामने हयूल समर्थक दूसरे पक्ष पर हमला कर दिया। बीच बचाव में जब पुलिस आई तो पुलिस पर ही हमला कर दिया गया। 

सिमराहा थाना अध्यक्ष साजिद आलम ने बताया कि हयूल एवं उनके समर्थकों द्वारा पहले दूसरे पक्ष पर हमला किया गया। जब बीच बचाव में पुलिस आई तो पुलिस पर ही फरसा से प्रहार कर दिया जिसमें दारोगा अनिल सिंह का हाथ जख्मी हो गया एवं उंगली कट गयी। घायल दारोगा का इलाज चल रहा है। थानाध्यक्ष ने बताया कि पुलिस ने हयूल की 21 वर्षीय बेटी नजमुल खातून को गिरफ्तार किया है। शेष आरोपियों की गिरफ्तारी के लिए पुलिस छापेमारी कर रही है। मोहम्मद आलम द्वारा प्राथमिकी के लिए आवेदन दिया गया है पुलिस भी अपनी ओर से प्राथमिकी दर्ज कर रही है।

मामले की पुष्टि करते हुए फारबिसगंज एसडीपीओ रामपुकार सिंह ने कहा कि भूमि विवाद में हो रही लड़ाई को रोकने गई पुलिस पर एक पक्ष द्वारा हमला किया गया। इसमें एक पदाधिकारी घायल हो गये हैं, जिसका इलाज जारी है। इस मामले में एक आरोपी की गिरफ्तारी हुई है। सूचना पर फारबिसगंज एवं आरएस थाना की पुलिस को भेजा गया, जिसके बाद सभी आरोपी भाग खड़े हुए।

सब्सक्राइब करें हिन्दुस्तान का डेली न्यूज़लेटर

संबंधित खबरें