DA Image
हिंदी न्यूज़   ›   बिहार  ›  दरभंगा में दहेज के लिए विवाहिता को जिंदा जलाने का प्रयास, भागकर बचाई जान

बिहारदरभंगा में दहेज के लिए विवाहिता को जिंदा जलाने का प्रयास, भागकर बचाई जान

दरभंगा हिन्दुस्तान टीमPublished By: Malay Ojha
Tue, 04 May 2021 02:33 PM
दरभंगा में दहेज के लिए विवाहिता को जिंदा जलाने का प्रयास, भागकर बचाई जान

बिहार के दरभंगा जिले के बहेड़ा थाना क्षेत्र की एक महिला को ससुराल वालों ने दहेज की खातिर जिंदा जलाने का प्रयास किया। मामले को लेकर शिवराम गांव की रहने वाली स्व. मो. खालिक की पुत्री नरगिस खातून ने महिला थाने में आवेदन दिया है। 

आवेदन में उन्होंने बताया है कि 26 दिसंबर 2015 को सदर थाना क्षेत्र के लबान गांव में मो. असलम के पुत्र मो. नेमतुल्ला से उसकी शादी हुई थी। उसके ससुराल वालों ने पति को अरब जाने के लिए उनकी मां से दो लाख रुपये की मांग की। मेरी मां ने एक लाख 60 हजार रुपए कर्ज लेकर ससुराल वाले को दे दिया। उसके बाद उसके पति अरब चले गए। वहां वे चार वर्ष तक रहे। इस दौरान उसे कोई संतान नहीं हुआ। इसलिए ससुराल वाले उसे बांझिन कहते हुए प्रताड़ित करने लगे। तब वह अपने मायके में ही रहने लगी। 

27 मार्च 2021 को उसे पता चला कि उसके पति ससुराल आए हुए हैं। 28 मार्च को अपने ग्रामीणों के साथ ससुराल गई। वहां पंचायती कर उसे ससुराल में छोड़कर ग्रामीण चले गए। उसके बाद नौ अप्रैल को उसके ससुर मो. असलम भी अरब से वापस आए। 

फिर 10 अप्रैल को उसके ससुर, सास अजीमा खातून, ननद शाहीन परवीन व माहीन परवीन एवं उसके पति नेमतुल्ला ने जान मारने की नीयत से उसके शरीर पर मिट्टी तेल छिड़क दिया। उसके बाद उसे आग लगा दी। किसी तरह उसने अपनी जान बचाई। उसके बाद वह अपने मायके चली आई। फिर उसने महिला थाने में प्राथमिकी दर्ज कराई। इस संबंध में पूछने पर महिला थानाध्यक्ष नुसरत जहां ने बताया कि प्राथमिकी दर्ज कर ली गई है। आगे की कार्रवाई की जा रही है। 

संबंधित खबरें