DA Image
हिंदी न्यूज़   ›   बिहार  ›  Bihar Corona Update: जेल प्रशासन से कैदी की अपील, कैंसर से लड़ लूंगा, पर कोरोना से बचना जरूरी है साहब

बिहारBihar Corona Update: जेल प्रशासन से कैदी की अपील, कैंसर से लड़ लूंगा, पर कोरोना से बचना जरूरी है साहब

भागलपुर हिन्दुस्तान टीमPublished By: Malay Ojha
Tue, 13 Apr 2021 05:22 PM
Bihar Corona Update: जेल प्रशासन से कैदी की अपील, कैंसर से लड़ लूंगा, पर कोरोना से बचना जरूरी है साहब

कैंसर से लड़ रहा हूं और लड़ ही लूंगा पर कोरोना से बचना जरुरी है साहब। बाहर की स्थिति बहुत खराब है। ऐसे में इलाज के लिए पटना जाना ठीक नहीं है। जब कोरोना संक्रमण का खतरा कम हो जायेगा, हालात सुधर जायेंगे तब अपनी बीमारी का इलाज कराने जाऊंगा। विशेष केंद्रीय कारा में बंद एक बंदी को जब जेल प्रशासन ने उसकी कैंसर की बीमारी का इलाज कराने के लिए पटना जाने को कहा तो उस बंदी ने ऐसा ही जवाब दिया। जेल प्रशासन के काफी समझाने के बाद भी वह इलाज के लिए पटना जाने को तैयार नहीं हुआ। 

कोरोना हो जायेगा तो क्या करेंगे
समझाने के बाद जेल में बंद बंदी ने जेल पदाधिकारी से कहा कि वह पहले से एक बीमारी को झेल रहा है ऐसे में अगर वह कोरोना संक्रमित हो गया तो उसके लिए और मुश्किल हो जायेगी। उससे कहा गया कि पटना जाने पर वहीं उसके एक दिन ठहरने की व्यवस्था करा दी जायेगी पर वह नहीं माना। उसने यह भी कहा कि वह कोरोना संक्रमित हो जायेगा तो उससे यह संक्रमण दूसरे साथी बंदी तक पहुंच जायेगा जिससे हालात बिगड़ जायेंगे। विशेष केंद्रीय कारा के अधीक्षक मनोज कुमार ने कहा कि  समझाने के बाद भी वह इलाज के लिए जाने को तैयार नहीं हुआ।

गिरफ्तारी के बाद मुंगेर भेजे जाएंगे अभियुक्त 
कोरोना संक्रमण को देखते हुए अभियुक्तों की गिरफ्तारी के बाद उन्हें 15 दिनों के लिए मुंगेर जेल स्थित क्वारंटाइन सेंटर भेजा जाता था। कोरोना संक्रमण कम होने पर इस व्यवस्था को बंद कर दिया और गिरफ्तारी के बाद सीधे शहीद जुब्बा सहनी केंद्रीय कारा और विशेष केंद्रीय कारा में अभियुक्तों को भेजा जाने लगा। अब फिर से जब कोरोना संक्रमण का खतरा बढ़ गया है तो पहले की व्यवस्था को फिर से लागू किया जायेगा। विशेष केंद्रीय कारा के अधीक्षक मनोज कुमार ने बताया कि जेल आईजी के साथ इसको लेकर बात हो गयी है और उन्होंने 15 दिनों के लिए मुंगेर भेजने की व्यवस्था फिर से चालू करने का निर्देश दिया है। 

संक्रमण बढ़ता देख बंदियों पर रखी जा रही नजर 
कोरोना संक्रमण के बढ़ते खतरे को देखते हुए विशेष केंद्रीय कारा और शहीद जुब्बा सहनी केंद्रीय कारा में सतर्कता बरती जा रही है। दोनों जेल प्रशासन द्वारा मुलाकातियों के आने पर पहले से रोक लगाई जा चुकी है। दोनों जेल में बंद बंदियों के स्वास्थ्य पर ध्यान रखा जा रहा है। दोनों जेल अधीक्षक ने बताया कि किसी बंदी में कोरोना के लक्षण मिलते ही तुरंत उसकी जांच कराई जायेगी। जेलों में बाहर से किसी भी तरह के सामान के लाने पर भी रोक है। 

संबंधित खबरें