ट्रेंडिंग न्यूज़

अगला लेख

अगली खबर पढ़ने के लिए यहाँ टैप करें

Hindi News बिहारBihar By Election: जेडीयू ने अगिआंव सीट से पूर्व MLA प्रभुनाथ प्रसाद को दिया टिकट, माले के शिवप्रकाश से टक्कर

Bihar By Election: जेडीयू ने अगिआंव सीट से पूर्व MLA प्रभुनाथ प्रसाद को दिया टिकट, माले के शिवप्रकाश से टक्कर

भोजपुर के अगिआंव सीट पर होने वाले उपचुनाव के लिए जेडीयू ने पूर्व विधायक प्रभुनाथ प्रसाद को टिकट दिया है। जिनका मुकाबला भाकपा माले के शिवप्रकाश रंजन से होगा। एक जून को इस सीट मतदान है।

Bihar By Election: जेडीयू ने अगिआंव सीट से पूर्व MLA प्रभुनाथ प्रसाद को दिया टिकट, माले के शिवप्रकाश से टक्कर
Sandeepसंवाददाता,आराMon, 06 May 2024 06:58 AM
ऐप पर पढ़ें

आरा जिले के भोजपुर के अगिआंव ( सुरक्षित ) विधानसभा के उपचुनाव में जदयू ने पुराने चेहरे को एक बार फिर से मैदान में उतारा है। एनडीए गठबंधन की ओर से जदयू के प्रत्याशी के तौर पर पूर्व विधायक प्रभुनाथ प्रसाद को टिकट मिला है। रविवार को पटना में जदयू के राष्ट्रीय अध्यक्ष सीएम नीतीश कुमार ने प्रभुनाथ प्रसाद को सिंबल दिया। बता दें कि अगिआंव विधानसभा में पूर्व विधायक मनोज मंजिल को हत्या के एक मामले में सजा सुनाये जाने के बाद विधायकी गंवानी पड़ी थी। 

ऐसे में लोकसभा के साथ अगिआंव विधानसभा में उपचुनाव भी कराया जा रहा है। महागठबंधन की ओर से पहले ही यह सीट भाकपा माले के कोटे दे दी गई थी और भाकपा माले ने शिवप्रकाश रंजन को अपना प्रत्याशी बना चुनावी मैदान में उतारा है। क्षेत्र के लोगों को एनडीए के चेहरे का इंतजार था। अब पूर्व विधायक रहे प्रभुनाथ प्रसाद और शिप्रकाश रंजन के बीच मुकाबला होगा। वैसे सिंबल मिलने से पहले से प्रभुनाथ प्रसाद क्षेत्र में जुट गये थे। उनके नाम की घोषणा भर बाकी थी।

आपको बता दें चुनाव आयोग ने लोकसभा चुनाव के सातवें चरण में अगिआंव विधानसभा उपचुनाव के लिए भी वोटिंग कराने की घोषणा की है। अगिआंव में उपचुनाव के लिए 1 जून को मतदान होगा। क्षेत्र के मतदाता लोकसभा और विधानसभा उपचुनाव दोनों के लिए एक साथ वोटिंग करेंगे। निर्वाचन आयोग द्वारा जारी कार्यक्रम के मुताबिक भोजपुर जिले की अगिआंव विधानसभा सीट पर उपचुनाव के लिए 7 मई को नोटिफिकेशन जारी होगा।

इसी दिन नामांकन की प्रक्रिया भी शुरू हो जाएगी। नामांकन दाखिल करने की आखिरी तारीख 14 मई है। इसके बाद 15 मई को नामांकन पत्रों की स्क्रूटनी की जाएगी। उम्मीदवार 17 मई को नामांकन वापस ले सकेंगे। इस सीट पर 1 जून को मतदान होगा। नतीजे लोकसभा चुनाव के साथ ही 4 जून को जारी होंगे।

बता दें कि अगिआंव से सीपीआई माले के विधायक रह चुके मनोज मंजिल को किसान जेपी सिंह की हत्या के मामले में उम्रकैद की सजा हुई थी। इसके बाद 16 फरवरी को उनकी विधानसभा सदस्यता रद्द कर दी गई। लोक प्रतिनिधित्व कानून के तहत दो साल या उससे अधिक की सजा पाने वाले किसी भी जनप्रतिनिधि को अयोग्य घोषित कर दिया जाता है। इसी नियम के तहत मनोज मंजिल की विधायकी चली गई थी। अब यहां उपचुनाव कराए जा रहे हैं।