Tuesday, January 25, 2022
हमें फॉलो करें :

मल्टीमीडिया

अगली खबर पढ़ने के लिए यहाँ टैप करें

हिंदी न्यूज़ बिहारभागलपुरः सदर अस्पताल कर्मी को मारी गोली, गले में फंसने से हालत गंभीर

भागलपुरः सदर अस्पताल कर्मी को मारी गोली, गले में फंसने से हालत गंभीर

भागलपुर वरीय संवाददाताYogesh Yadav
Wed, 08 Dec 2021 10:13 PM
भागलपुरः सदर अस्पताल कर्मी को मारी गोली, गले में फंसने से हालत गंभीर

इस खबर को सुनें

सदर अस्पताल के चतुर्थ वर्गीय कर्मी को बुधवार की शाम लगभग सवा पांच बजे इशाकचक के मोती मिश्र लेन में बाइक सवार बदमाश ने गोली मार दी। गोली अस्पताल कर्मी के गले में लगी है जो फंसी हुई है। अस्पताल कर्मी बाइक चला रहा था और उसके पीछे उसका मित्र भी बैठा था। घायल अवस्था में सूचना मिलने पर एएसपी सिटी शुभम आर्य, इशाकचक इंस्पेक्टर अशोक सिंह और तिलकामांझी थानाध्यक्ष राजरतन कुमार मौके पर पहुंचे। घटनास्थल के पास निजी मकान में लगे सीसीटीवी फुटेज को भी खंगाला गया। फुटेज में बाइक सवार बदमाश भागते हुए दिख रहा है। 

आवाज के साथ रोशनी हुई और बाइक सहित दोनों गिर पड़े

अस्पताल कर्मी वरुण कुमार झा के साथ बाइक पर पीछे बैठे शंभूशरण मिश्र ने बताया कि बुधवार को उनके घर पर पूजा थी। वरुण को प्रसाद खाने के लिए बुलाया था। प्रसाद खाने के बाद दोनों बाइक से गुमटी नंबर तीन की तरफ घूमने गये और उधर से वापस मोती मिश्र लेन की तरफ आ रहे थे तभी गली में सामने से तेज रोशनी और आवाज हुई और बाइक चला रहे वरुण और वे गिर पड़े। गिरने के बाद देखा कि वरुण के गले से खून बह रहा था। आस-पास के लोग वहां इकट्ठा हो गये और इलाज के लिए उन्हें मायागंज ले जाया गया। 

घायल कर्मी के बेटे ने कहा किसी से दुश्मनी नहीं

घटना के बाद मायागंज में घायल वरुण का इलाज कराने पहुंचे उनके बेटे आलोक रंजन ने इशाकचक थानाध्यक्ष के समक्ष बयान में कहा कि उनके पिता या उनका किसी से कोई दुश्मनी नहीं है। आलोक का कहना है कि जिस तरह से गोली मारी गयी है इससे इस बात की आशंका है कि उनके पिता या पिता के दोस्त को टारगेट किया गया था। घटना के पीछे कारण क्या है यह कोई बताने को तैयार नहीं। घटनास्थल पर मौजूद किराना दुकान संचालक रिंकू ने भी पुलिस को बताया कि घटना के बाद बाइक सवार एक शख्स को उन्होंने भागते हुए देखा। वरुण मूल रूप से डी-दरियापुर के रहने वाले हैं और वर्तमान में सदर अस्पताल परिसर में ही रह रहे हैं। वे अस्पताल में नशा मुक्ति केंद्र में कार्यरत हैं। 

निशाना शंभू तो नहीं थे, इस बिंदु पर भी पुलिस कर रही हैं जांच 

घटना को देख पुलिस इतना तो तय मान रही है कि बदमाश ने टारगेट कर घटना को अंजाम दिया है। सामने से आकर गोली मारकर वह भागा है। पूछताछ में यह पता चला है कि वरुण के मित्र शंभूशरण मिश्र की पुस्तैनी जमीन गोराचक्की के पास है। उस जमीन को लेकर किसी से उनका विवाद भी चल रहा है। ऐसे में पुलिस को आशंका है कि बदमाश के टारगेट में शंभूशरण भी हो सकते हैं। ऐसा हो सकता है कि बदमाश ने शंभू को ही टारगेट कर गोली चलाई और गोली धोखे से वरुण को लग गयी। शंभूशरण ने बताया कि वे नवलोका स्कूल में हिंदी के शिक्षक हैं। घटनास्थल पर पहुंच पुलिस पदाधिकारियों ने स्थानीय लोगों से भी जानकारी ली। एएसपी सिटी शुभम आर्या के अनुसार घटना का कारण स्पष्ट नहीं हो सका है। सीसीटीवी फुटेज भी देखा जा रहा है। आरोपी की पहचान कर उसकी गिरफ्तारी की जायेगी। 

epaper

संबंधित खबरें