ट्रेंडिंग न्यूज़

Hindi News बिहारपकड़ौआ ब्याह का खूनी अंत, ससुराल पहुंचाने गए पिता और भाई की बेटी समेत गोली मारकर हत्या

पकड़ौआ ब्याह का खूनी अंत, ससुराल पहुंचाने गए पिता और भाई की बेटी समेत गोली मारकर हत्या

बिहार में प्रचलित पकड़ौआ विवाह के एक मामले के खूनी अंत ने शनिवार की रात सनसनी फैला दी। बेगूसराय के साहेबपुर कमाल में बेटी को ससुराल पहुंचाने गए पिता और भाई समेत लड़की की गोली मारकर हत्या कर दी गई।

पकड़ौआ ब्याह का खूनी अंत, ससुराल पहुंचाने गए पिता और भाई की बेटी समेत गोली मारकर हत्या
Ritesh Vermaनिज संवाददाता,साहेबपुर कमाल, बेगूसरायSun, 18 Feb 2024 01:39 AM
ऐप पर पढ़ें

बिहार में शादी योग्य लड़के का अपहरण कर जबरन शादी कराने यानी पकड़ौआ विवाह के एक मामले के खूनी अंत से बेगूसराय में सनसनी फैल गई है। बेगूसराय के साहेबपुर कमाल इलाके में दो साल पहले हुई एक जबरिया शादी के बाद जब लड़की पक्ष के लोगों को भनक लगी कि लड़के की दूसरी शादी की तैयारी चल रही है। दुल्हन को लेकर जब लड़की के पिता और भाई उसकी ससुराल पहुंचे तो दरवाजे पर ही तीनों की गोली मारकर हत्या कर दी गई है। शनिवार देर शाम हुई इस वारदात से लड़की के घर में कोहराम मच गया है। घटनास्थल से आई तस्वीरों से लगता है कि ससुराल में घर के बाहर दरवाजे पर ही विवाद के बीच हत्याकांड को अंजाम दिया गया है।

साहेबपुर कमाल थाना क्षेत्र के विष्णुपुर आहोक पंचायत के गोविंदपुर गांव में शनिवार की देर शाम ससुराल वालों ने विवाहिता को ससुराल पहुंचाने गये पिता और भाई समेत विवाहिता की गोली मारकर हत्या कर दी। मृतकों की पहचान इसी थाना क्षेत्र के श्रीनगर गांव निवासी 60 वर्षीय उमेश यादव, उनके बेटे राजेश कुमार और 22 वर्षीय बेटी नीलू कुमारी के रूप में की गई है। ग्रामीणों और मृतक के गांव वालों से मिली जानकारी के अनुसार करीब दो वर्ष पहले नीलू की शादी गोविंदपुर गांव के निवासी संजय यादव के पुत्र हिमांशु उर्फ मान सिंह से हुई थी। बताया गया कि शादी पकड़ौआ थी।

बिहार में पकड़ौआ ब्याह रद्द करने के पटना हाईकोर्ट के फैसले पर SC की रोक, 7 फेरे के बिना अमान्य हुई थी शादी

शादी के बाद से ही दोनों पक्षों के बीच विवाद चल रहा था। ससुराल पक्ष के लोग विवाहिता को ससुराल नहीं ले जा रहे थे। मृतका के ससुराल वाले उसे नहीं रखना चाहते थे। चर्चा है कि ससुराल वाले हिमांशु की शादी कहीं और करने की सोच रहे थे, जिसकी भनक विवाहिता के परिवार वालों को लग गई। शनिवार को नीलू के पिता उमेश यादव और भाई राजेश यादव उसे लेकर गोविंदपुर गांव में उसकी ससुराल पहुंचे थे।

शादी के मौसम में खतरे में कुंवारे टीचर, जानिए क्या है बिहार का पकड़ौआ ब्याह जिससे खौफ खाते हैं लड़के

मिली जानकारी के अनुसार विवाहिता, उसके पिता और भाई को आता देख गुस्से में संजय यादव के पुत्र ने गोलीबारी शुरू कर दी। विवाहिता, उसके पिता और भाई को घर के बाहर ही गोलियों से छलनी कर दिया गया। तीनों की मौके पर ही मौत हो गई है। घटनास्थल पर पुलिस के वरीय अधिकारी भी पहुंचे हैं। जांच शुरू हो गई है और गिरफ्तारी के लिए छापेमारी चल रही है।

हिन्दुस्तान का वॉट्सऐप चैनल फॉलो करें