ट्रेंडिंग न्यूज़

अगला लेख

अगली खबर पढ़ने के लिए यहाँ टैप करें

Hindi News बिहारश्रेय पर संग्राम: तेजस्वी बोले- नीतीश कहते थे 10 लाख नौकरी असंभव, पैसा कहां से लाएगा, हमने कर दिखाया

श्रेय पर संग्राम: तेजस्वी बोले- नीतीश कहते थे 10 लाख नौकरी असंभव, पैसा कहां से लाएगा, हमने कर दिखाया

बिहार में एक बार फिर से क्रेडिट वॉर छिड़ गई है। तेजस्वी यादव ने एक बार फिर से कहा कि सीएम नीतीश कहते थे कि 10 लाख नौकरी असंभव है, पैसा कहां से आएगा, लेकिन हमने करके दिखाया।

श्रेय पर संग्राम: तेजस्वी बोले- नीतीश कहते थे 10 लाख नौकरी असंभव, पैसा कहां से लाएगा, हमने कर दिखाया
Sandeepलाइव हिन्दुस्तान,पटनाTue, 18 Jun 2024 04:38 PM
ऐप पर पढ़ें

बिहार में एक बार फिर से क्रेडिट पॉलिटिक्स तेज हो गई है। एक तरफ नीतीश सरकार ने एक साल में 5 लाख से ज्यादा सरकारी नौकरी और 11 लाख रोजगार देने का मिशन मोड को काम करने का विभागों को आदेश दिया है। तो वहीं दूसरी तरफ नेता प्रतिपक्ष और पूर्व डिप्टी सीएम तेजस्वी याद ने एक बार फिर से 17 महीनों में 5 लाख से ज्यादा सरकारी नौकरी देने की बात कही है। 

तेजस्वी यादव ने एक्स पर पोस्ट करते हुए लिखा कि हमने 𝟏𝟕 महीनों के अल्प कार्यकाल में 𝟓 लाख से अधिक सरकारी नौकरियां दी, इसी दौरान 𝟑 लाख सरकारी नौकरियां प्रक्रियाधीन करवाई जो आचार संहिता के चलते कुछ महीनों से रुकी थी। हमारे हटते ही पूर्व निर्धारित तीसरे चरण में 𝟏 लाख शिक्षकों की भर्ती परीक्षा का पेपर लीक होने की वजह से वह रद्द हो गयी थी।चूंकि अब लोकसभा चुनाव पूर्ण हो चुके है। पहले से प्रक्रियाधीन 𝟑 लाख नौकरियों के अलावा सरकार हमारी सरकार के निर्णय अनुसार सभी विभागों की बाक़ी रिक्तियों पर यथाशीघ्र बहाली प्रक्रिया शुरू कर नियुक्तियां करायें। 

यह भी पढ़िए- बिहार: एक साल में 5.17 लाख नौकरी, 11 लाख रोजगार; मिशन मोड में काम देगी नीतीश कुमार की जॉब एक्सप्रेस

तेजस्वी ने कहा कि सनद रहे यह वही 𝐍𝐃𝐀 और मुख्यमंत्री है जो कहते थे 𝟏𝟎 लाख सरकारी नौकरियां देना असंभव (𝐈𝐌𝐏𝐎𝐒𝐒𝐈𝐁𝐋𝐄) है। इतनी नौकरियों का पैसा तेजस्वी कहां से लाएगा? जब हमारे साथ सरकार में आकर  बैठे तो हमने साइंटिफ़िक तरीके से मुख्यमंत्री जी सहित वरीय अधिकारियों (जो इनके कार्यकाल में हमेशा संविदा और आउटसोर्सिंग के पक्षधर रहे) को बताया और समझाया कि कैसे 𝟏𝟎 लाख से अधिक सरकारी नौकरियां दी जा सकती है। इससे पूर्व तक वो यह मानने को ही तैयार नहीं होते थे कि बिहार में लाखों पद रिक्त भी है। हमारी सकारात्मक राजनीति का परिणाम हमेशा ही सकारात्मक मिलेगा। जिन लाखों युवक-युवतियों को नौकरियां मिली और मिलेंगी उन पर हमारी इस 𝐏𝐨𝐬𝐢𝐭𝐢𝐯𝐞, 𝐏𝐫𝐨𝐠𝐫𝐞𝐬𝐬𝐢𝐯𝐞 और मुद्दे आधारित राजनीति का जीवन भर प्रभाव रहेगा। जय हिन्द! जय बिहार!

यह भी पढ़िए- बिहार में नौकरी की बहार; तीन महीने में 1.99 लाख बेरोजगारों को नियुक्ति पत्र देगी नीतीश सरकार

आपको बता दें इससे पहले लोकसभा चुनाव 2024 में भी तेजस्वी यादव अपनी चुनावी रैलियों में तत्कालीन 17 महीने की महागठबंधन की सरकार में 5 लाख नौकरी युवाओं को देने की बात कहते रहे थे। और बताते रहे कि उनके डिप्टी सीएम रहते बिहार के युवाओं को इतनी बड़ी तादाद में सरकारी नौकरी दी गई थी। जबकि दूसरी तरफ सीएम नीतीश कुमार तेजस्वी के इस दावे को बेबुनियाद और गुहराग करने वाला बताते रहे। और अब एक बार फिर से बिहार जॉब क्रेडिट पॉलिटिक्स तेज हो गई है।