DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

बैंक रहे बंद तो एटीएम के भी गिरे शटर, कैश के लिए भटकते रहे लोग

पटना में बैंकिंग सेवाएं हड़ताल के कारण चरमरा गईं। सुबह में राजधानी के कुछ इलाकों में एटीएम खुले थे, लेकिन जैसे-जैसे दिन चढ़ता गया, बैंकों के एटीएम के शटर गिरते चले गए। शाम तक पटना के लगभग सभी इलाकों में ATM के शटर गिर गए। एटीएम के बाहर कैश आउट का बोर्ड टंगा मिला। लोगों को एटीएम से निराश होकर लौटना पड़ा। एक तो भीषण गर्मी ऊपर से एटीएम बंद रहने से लोगों को एक से दूसरे एटीएम भटकने पर मजबूर होना पड़ा। 
सड़क पर उतर कर प्रदर्शन : पटना में अलग-अलग जगहों पर बैंकरों ने सड़क पर उतर कर प्रदर्शन किया और अपनी मांगों को पूरा करने के लिए नारेबाजी की। यूनाइटेड फोरम ऑफ बैंक यूनियंस के आह्वान पर बुलाई गई हड़ताल में अलग-अलग बैंकों के यूनियन या संगठन शामिल हुए। हड़ताल के पहले दिन पूरे प्रदेश में बैंकिंग सेवाएं ठप रहीं। वहीं एटीएम सेवाएं भी कई जगहों पर ठप रहीं। इससे लोगों को भारी मुश्किलों का सामना करना पड़ा। वहीं व्यापारियों का लेनदेन का सारा कारोबार ठप पड़ गया। करोडों का कारोबार प्रभावित हुआ है।
पटना में बुद्ध मार्ग स्थित इलाहाबाद बैंक कर्मियों ने शाखा के गेट पर प्रदर्शन किया। कर्मी यूनाइटेड फोरम ऑफ बैंक यूनियंस के आह्वान पर हड़ताल में जुटे रहे। वही आर ब्लॉक के पास अलग-अलग बैंक यूनियन हड़ताल में शामिल हुए और जमकर प्रदर्शन किया। हड़ताल में Bank of India ऑफिसर्स एसोसिएशन,  ऑल इंडिया पंजाब नेशनल बैंक ऑफिसर्स एसोसिएशन, नेशनल बैंक एंप्लाइज एसोसिएशन PNB बिहार जैसे संगठन हड़ताल में शामिल हुए।

भीषण गर्मी के बीच भी बैंक कर्मी प्रदर्शन करते रहे इधर मौर्या लोक में सेंट्रल बैंक ऑफ इंडिया के कर्मियों ने भी क्षेत्रीय आंचलिक कार्यालय के बाहर हड़ताल पर बैठे और प्रदर्शन किया। ये कर्मी सेंट्रल बैंक ऑफिसर्स एसोसिएशन और बिहार स्टेट सेंट्रल बैंक एंप्लाइज यूनियन के बैनर तले हड़ताल पर बैठे थे। हड़ताल में सार्वजनिक और निजी क्षेत्र के बैंक शामिल हुए। हालांकि राज्यभर के सभी ग्रामीण बैंक खुले रहे। यूनाइटेड फोरम ऑफ रीजनल रूरल बैंक यूनियंस ने हड़ताल से ग्रामीण बैंकों को अलग रखा।

बता दें कि बैंक कर्मी 11वें वेतन समझौते को लागू करने की मांग कर रहे हैं। यूनाइटेड फोरम ऑफ बैंक यूनियंस की मांग है कि पिछले वेतन समझौते की तर्ज पर उन्हें 15% से अधिक वेतन वृद्धि दी जाए।

लोगों को हुई परेशानी
महीने के आखिर में बैंक हड़ताल होने की वजह से वेतन और पेंशन भोगियों को काफी परेशानी का सामना करना पड़ रहा है। बैंक शाखाओं के बंद रहने से आरटीजीएस सेवाएं भी बाधित रही। चेक क्लियरेंस, नकद जमा निकासी, पैसे के ट्रांसफर आदि का काम नहीं होने से कारोबार पूरी तरह ठप पड़ गया।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:Bank closed in Bihar business turnover people facing problem