ट्रेंडिंग न्यूज़

अगला लेख

अगली खबर पढ़ने के लिए यहाँ टैप करें

Hindi News बिहारअतुल, अंशुल, अमित, नीतीश, सिकंदर... नीट पेपर लीक में कितने नाम, किसने किया कौन-सा काम?

अतुल, अंशुल, अमित, नीतीश, सिकंदर... नीट पेपर लीक में कितने नाम, किसने किया कौन-सा काम?

5 मई को हुई नीट यूजी परीक्षा के पेपर लीक मामले में जांच कर रही बिहार ईओयू की टीम को कई नाम मिले हैं, जिनका सॉल्वर गिरोह से कनेक्शन रहा।

अतुल, अंशुल, अमित, नीतीश, सिकंदर... नीट पेपर लीक में कितने नाम, किसने किया कौन-सा काम?
Jayesh Jetawatलाइव हिन्दुस्तान,पटनाFri, 21 Jun 2024 10:24 PM
ऐप पर पढ़ें

नीट पेपर लीक मामले में बिहार की आर्थिक अपराध इकाई (ईओयू) की जांच में कई नाम सामने आए हैं। अब तक की जांच में पता चला है कि 5 मई को नीट यूजी की परीक्षा से एक दिन पहले ही पेपर लीक हो गया था। पटना में नीट अभ्यर्थियों से लाखों रुपये में सौदा करके प्रश्न-पत्र रटवाए गए थे। वही सवाल अगले दिन पेपर में भी आए। सॉल्वर गिरोह में अतुल वत्स्य,अंशुल सिंह, अमित आनंद, नीतीश कुमार, सिकंदर यादवेंदु समेत कई अन्य नाम हैं। ईओयू ने अभी तक 13 लोगों को नीट पेपर लीक में गिरफ्तार किया है। इनमें से 4 नीट के अभ्यर्थी हैं।

नीट धांधली में पकड़े गए चारों अभ्यर्थियों ने ईओयू के सामने खुलासा किया कि एग्जाम के एक दिन पहले ही उनके पास पेपर आ गया था। नीट अभ्यर्थी आयुष ने जांच टीम से कहा कि सिकंदर यदुवंशी ने नीट छात्रों की सॉल्वर गैंग से सेटिंग कराई थी। इसके लिए उसने आयुष के पिता से 40 लाख रुपये में डील की थी। सिकंदर समस्तीपुर जिले का रहने वाला है और जूनियर इंजीनियर के पद पर तैनात है। पुलिस ने उसे गिरफ्तार कर जेल भेज दिया है।

सिकंदर यदुवंशी ने पूछताछ में उसके दो साथी अमित आनंद और नीतीश कुमार का नाम लिया। इन दोनों ने सिकंदर को 30-32 लाख प्रति स्टूडेंट के आधार पर नीट का प्रश्न-पत्र देने का ऑफर किया था। उन्हीं के कहने पर सिकंदर चार अभ्यर्थियों को लेकर आया। हालांकि, पेपर लीक के मास्टरमाइंड ये तीनों नहीं हैं। इन्होंने स्टूडेंट्स से डील की थी।

नीट पेपर लीक में नालंदा पहुंची ईओयू टीम, फरार संजीव मुखिया के घर छापेमारी

बताया जा रहा है कि उन्हें पेपर अतुल वत्स्य और अंशुल सिंह से मिला था। ये दोनों वैशाली जिले के रहने वाले हैं। सबसे पहले पेपर इन्हें ही मिला था। इसके अलावा नालंदा जिले के निवासी संजीव मुखिया का भी पेपर आउट करवाने में नाम सामने आया है। संजीव नालंदा उद्यान कॉलेज में तकनीकी सहायक का काम करता है। उसका बेटा डॉ. शिव कुमार बीपीएससी शिक्षक बहाली फेज 3 के पेपर लीक मामले में जेल में बंद है। संजीव अभी फरार चल रहा है। उसके घर शुक्रवार को जांच टीम ने छापेमारी की। 

नीट पेपर लीक में आया रवि अत्री का नाम, मेरठ जेल में बंद है यूपी का मास्टरमाइंड

इसके अलावा एकरंगसराय से राकेश कुमार नाम के एक अन्य शख्स को हिरासत में लिया गया है। उसकी भी नीट पेपर लीक में संलिप्तता सामने आई है। इससे पहले ईओयू ने 13 लोगों को नीट पेपर लीक में गिरफ्तार किया था, इनमें से चार अभ्यर्थी शामिल हैं। उनकी जमानत याचिका पर सुनवाई 25 जून को होगी। ये सभी अभी पटना की बेऊर जेल में बंद हैं।

तेजस्वी यादव के पीए का भी नाम पेपर लीक में आया, ईओयू करेगी जांच
आरजेडी नेता तेजस्वी यादव के निजी सचिव प्रीतम कुमार का भी नाम सामने आया। बिहार के डिप्टी सीएम विजय सिन्हा ने आरोप लगाए कि तेजस्वी का पेपर लीक के आरोपी सिकंदर से करीबी रिश्ते हैं। उसके लिए तेजस्वी के पीए प्रीतम ने एनएच के गेस्ट हाउस में कमरा बुक कराया था। इस कमरे में सिकंदर, उसके साले का बेटा और नीट अभ्यर्थी अनुराग यादव रुका था। हालांकि, तेजस्वी यादव ने इन आरोपों से इनकार किया है। उन्होंने कहा कि अगर उनके पीए पर आरोप है तो सरकार उनसे पूछताछ करे।