ट्रेंडिंग न्यूज़

अगला लेख

अगली खबर पढ़ने के लिए यहाँ टैप करें

Hindi News बिहारअसम के व्यक्ति ने किशनगंज सदर अस्पताल में लगाई फांसी, चादर का बनाया फंदा; कैसे पहुंचा अस्पताल?

असम के व्यक्ति ने किशनगंज सदर अस्पताल में लगाई फांसी, चादर का बनाया फंदा; कैसे पहुंचा अस्पताल?

अब तक ये स्पष्ट नहीं हो पाया है की मृतक तपन को किसके द्वारा लाया गया था। असम राज्य का होते हुए आखिर वह सदर अस्पताल में कैसे पहुंचा। जिस स्थान पर घटना घटित हुई है उसके पास ही गार्ड की तैनाती रहती है।

असम के व्यक्ति ने किशनगंज सदर अस्पताल में लगाई फांसी, चादर का बनाया फंदा; कैसे पहुंचा अस्पताल?
Sudhir Kumarहिन्दुस्तान,किशनगंजSun, 26 May 2024 09:15 PM
ऐप पर पढ़ें

किशनगंज सदर अस्पताल परिसर के लेबर वार्ड जाने वाले रास्ते में शनिवार की रात असम के एक युवक का फांसी पर लटका शव मिला।शव अस्पताल के बेड में बिछाए जाने वाले चादर के सहारे लटका हुआ था।मृतक की पहचान असम निवासी तपन साहा 32 वर्ष  के रूप में की गई है।रात में ही किसी अस्पताल कर्मी की नजर लटकते हुए शव पर पड़ी।अस्पताल में डियूटी पर तैनात चिकित्सक को घटना की सूचना दी गई।इसके बाद शव को नीचे उतारा गया और जांच की गई तब तक युवक की मौत हो चुकी थी।

घटना की सूचना सदर थाना की पुलिस को  दी गई। सूचना मिलते ही सदर थानाध्यक्ष संदीप कुमार,प्रोबेसनर अवर निरीक्षक रवि शंकर कुमार, अंकित सिंह पुलिस टीम के साथ सदर अस्पताल पहुंचे। थोड़ी देर बाद सीओ राहुल कुमार भी सदर अस्पताल पहुंचे। पुलिस के पहुंचने के बाद शव को पोस्टमार्टम के लिए भेजा गया।पुलिस पूरे मामले की छानबीन में जुट गई है।

बताया जाता है की इलाज के लिए शनिवार की शाम को किसी के द्वारा सदर अस्पताल लाया गया था। हालांकि अब तक ये स्पष्ट नहीं हो पाया है की मृतक तपन को किसके द्वारा लाया गया था। असम राज्य का होते हुए आखिर वह सदर अस्पताल में कैसे पहुंचा।पुलिस इन सभी बिंदुओं पर जांच कर रही है।जांच के बाद ही स्थिति पूरी तरह से स्पष्ट हो पाएगी। इधर घटना को लेकर कई सवाल भी उठने लगे हैं। जब अस्पताल में गार्ड की तैनाती है तो किसी भी गार्ड की नजर घटना स्थल पर क्यों नहीं पड़ी। जबकि जिस स्थान पर घटना घटित हुई है उसके पास ही गार्ड की तैनाती रहती है।  

इतने बड़े अस्पताल में किसी भी कर्मी की नजर भी नहीं पड़ी। वही जिस स्थान पर घटना घटी है उस ओर सीसीटीवी कैमरे की दिशा नहीं है। सदर अस्पताल के डीएस का कार्यालय भी घटना स्थल से कुछ ही दूरी पर है। इतने बड़े अस्पताल में सुरक्षा के दृष्टिकोण से क्या व्यवस्थाएं है। यही नहीं एक वर्ष पूर्व भी अस्पताल परिसर में ही एक व्यक्ति का शव फंदे से लटका मिला था। 

सदर थानाध्यक्ष संदीप कुमार ने बताया कि घटना की जांच की जा रही है।फिलहाल शव का पोस्टमार्टम करवाया जा रहा है।पोस्टमार्टम रिपोर्ट आने के बाद स्थिति स्प्ष्ट हो पाएगी। पोस्टमार्टम के बाद पहचान के लिए शव को 72 घण्टे तक रखा जाएगा।शव की पहचान के लिए आसपास के थानों व असम राज्य की पुलिस से सम्पर्क साधा जा रहा है। सदर अस्पताल के डीएस अनवर हुसैन ने बताया कि सिक्युरिटी गार्ड के द्वारा घटना की सूचना दी गई थी।जांच के बाद शव का पोस्टमार्टम करवा कर 72 घण्टे के लिए शव को सुरक्षित रखा जाएगा।