DA Image
हिंदी न्यूज़   ›   बिहार  ›  आरा बैग कारोबारी हत्याकांड: कुख्यात खुर्शीद कुरैशी सहित 10 को फांसी, 6 दिसंबर 2018 को हुई थी इमरान की हत्या
बिहार

आरा बैग कारोबारी हत्याकांड: कुख्यात खुर्शीद कुरैशी सहित 10 को फांसी, 6 दिसंबर 2018 को हुई थी इमरान की हत्या

आरा हिन्दुस्तान टीमPublished By: Malay Ojha
Mon, 14 Jun 2021 05:26 PM
आरा बैग कारोबारी हत्याकांड: कुख्यात खुर्शीद कुरैशी सहित 10 को फांसी, 6 दिसंबर 2018 को हुई थी इमरान की हत्या

बिहार में आरा शहर के चर्चित बैग कारोबारी इमरान खान की हत्या में कोर्ट ने सोमवार को कुख्यात खुर्शीद कुरैशी सहित 10 दोषियों को फांसी की सजा सुनाई है। अलग-अलग सेक्शन में कुल दो लाख 60 हजार रुपए का अर्थ दंड भी लगाया गया है। एडीजे 9 मनोज कुमार ने यह सजा वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के माध्यम से सुनाई। दोषियों में खुर्शीद कुरैशी का भाई अबदुल्ला भी शामिल है।

विगत 9 मार्च को दोषी पाए जाने के बाद कोर्ट के आदेश पर सभी को जेल भेज दिया गया था। अपर जिला और सत्र न्यायाधीश मनोज कुमार के कोर्ट ने सभी आरोपितों को हत्या, आपराधिक षडयंत्र, आर्म्स एक्ट और रंगदारी के लिए भय पैदा करने में दोषी पाया था। इस मामले में एपीपी नागेंद्र प्रसाद सिंह ने अभियोजन की ओर से बहस की थी। 24 मार्च को ही सजा सुनाई जानी थी। 

बता दें कि छह दिसंबर 2018 को दिनदहाड़े आरा के धर्मन चौक स्थित शोभा मार्केट में अंधाधुंध फायरिंग की गई थी। उसमें दूध कटोरा निवासी बैग कारोबारी इमरान खान की मौत हो गई थी। इमरान के भाई अकील अहमद और एक बीएसएनएल कर्मी भी गोली लगने से जख्मी हो गए थे। उसे लेकर अकील अहमद के बयान पर टाउन थाने में खुर्शीद कुरैशी और उसके भाई सहित अन्य के खिलाफ नामजद प्राथमिकी दर्ज कराई गई थी। उसमें कहा गया था कि उससे दस लाख रुपए रंगदारी की मांग की गयी थी। पैसे देने से इनकार किया तो आरोपितों द्वारा उन पर अंधाधुंध गोली चलाई गई। उसमें इमरान की मौत हो गई, जबकि उनके भाई अकील अहमद और एक कर्मी जख्मी हो गए थे। 

दोनों पक्षों की सुनवाई के बाद नवम अपर जिला एवं सत्र न्यायाधीश मनोज कुमार ने भादवि की धारा 387/34, 302/34, 307/34,120 (बी ) एवं 27 आर्म्स एक्ट तहत खुर्शीद कुरैशी उसके भाई अब्दुल्ला कुरैशी, नजीरगंज के राजू खान, रौजा मोहल्ला के अनवर कुरैशी, मिल्की मोहल्ला के अहमद मिंया, खेताड़ी मोहल्ला के बबली मियां, तौशिफ आलम व फुचन उर्फ फुकन मियां, रोजा के गुड्डू मियां व अबरपुल मुहल्ला शमशेर मियां को दोषी करार दिया था। सभी को फांसी की सजा सुना दी गई।

संबंधित खबरें