ट्रेंडिंग न्यूज़

अगला लेख

अगली खबर पढ़ने के लिए यहाँ टैप करें

Hindi News बिहारराबड़ी देवी की सुरक्षा में तैनात एक और सिपाही निलंबित, रोहिणी आचार्य के साथ वीडियो हुआ था वायरल

राबड़ी देवी की सुरक्षा में तैनात एक और सिपाही निलंबित, रोहिणी आचार्य के साथ वीडियो हुआ था वायरल

छपरा हिंसा के मामले में पूर्व सीएम राबड़ी देवी के एक और बॉडीगार्ड पर गाज गिरी है। रोहिणी आचार्य के साथ घूमते सिपाही को निलंबित कर दिया गया है।

राबड़ी देवी की सुरक्षा में तैनात एक और सिपाही निलंबित, रोहिणी आचार्य के साथ वीडियो हुआ था वायरल
rabri devi
Jayesh Jetawatहिन्दुस्तान,हाजीपुरFri, 24 May 2024 11:17 PM
ऐप पर पढ़ें

बिहार के छपरा में लोकसभा चुनाव के मतदान के दौरान हुई हिंसा के मामले में एक और एक्शन हुआ है। राष्ट्रीय जनता दल (आरजेडी) के सुप्रीमो लालू प्रसाद यादव की पत्नी एवं पूर्व मुख्यमंत्री राबड़ी देवी की सुरक्षा में तैनात एक और सिपाही को निलंबित कर दिया गया है। निलंबित सिपाही पर 20 मई को सारण लोकसभा सीट पर मतदान के दौरान आरजेडी प्रत्याशी रोहिणी आचार्य के साथ घूमने का आरोप है। इसका वीडियो सोशल मीडिया पर वायरल हुआ था। वीडियो की जांच के बाद वैशाली जिला एसपी हर किशोर राय ने निलंबन की कार्रवाई।

निलंबित सिपाही का नाम आफताब आलम है जो वैशाली जिला बल में तैनात है। आफताब की ड्यूटी पूर्व सीएम राबड़ी देवी की सुरक्षा में लगाई गई थी। मगर छपरा में वोटिंग के दौरान वह रोहिणी आचार्य के साथ नजर आया। वीडियो वायरल होने के बाद एसपी ने मामले की जांच कराई, सही पाए जाने पर सिपाही के खिलाफ कार्रवाई की।

बता दें कि राबड़ी देवी के एक अन्य बॉडीगार्ड को पहले ही निलंबित किया जा चुका है। सारण पुलिस की रिपोर्ट के आधार पर पटना एसएसपी ने राबड़ी देवी के बॉडीगार्ड जितेंद्र सिंह को सस्पेंड किया था। उस पर भी छपरा में मतदान के दौरान रोहिणी आचार्य के साथ बूथ पर रहने का आरोप है।

छपरा हिंसा का वीडियो वायरल, फायरिंग करता दिखा शख्स, लाठी-डंडों से लैस लोग

बता दें कि सारण लोकसभा सीट पर पांचवें चरण के मतदान के दौरान छपरा के तेलपा में आरजेडी और बीजेपी के कार्यकर्ताओं के बीच झड़प हुई थी। बीजेपी समर्थकों ने आरजेडी प्रत्याशी रोहिणी आचार्य के बार-बार बूथ पर आने को लेकर हंगामा किया था। इसके अगले दिन 21 मई को सुबह छपरा के भिखारी ठाकुर चौक पर दोनों पक्षों के समर्थक फिर भिड़े और गोलीबारी में आरजेडी कार्यकर्ता की जान चली गई थी। दोनों पक्षों की ओर से पुलिस में एफआईआर दर्ज कराई गई। इस मामले की जांच की जा रही है।