ट्रेंडिंग न्यूज़

Hindi News बिहारबिहार में सियासी भूचाल के बीच सीएम हाउस में नीतीश ने फहराया तिरंगा, अपने हाथों बांटी जलेबी

बिहार में सियासी भूचाल के बीच सीएम हाउस में नीतीश ने फहराया तिरंगा, अपने हाथों बांटी जलेबी

मुख्यमंत्री ने बिहार वासियों के साथ देश की जनता को गणतंत्र दिवस की बधाई दी। उन्होंने कहा कि हमारा संविधान 1950 में इसी दिन लागू हुआ जो हमें अपने देश में स्वतंत्रता पूर्वक जीने का अवसर देता है।

बिहार में सियासी भूचाल के बीच सीएम हाउस में नीतीश ने फहराया तिरंगा, अपने हाथों बांटी जलेबी
Sudhir Kumarलाइव हिंदुस्तान,पटनाFri, 26 Jan 2024 09:51 AM
ऐप पर पढ़ें

देश आज गणतंत्र दिवस की 75 में वर्षगांठ मना रहा है। इससे पहले बिहार का सियासी तापमान हाई है। लोकसभा चुनाव 2024 और बिहार की  सत्ता को लेकर पल-पल राजनीतिक हालात बदल रहे हैं। बिहार की सियासत से दिल्ली में राजनीतिक सरगर्मी तेज हो गई है। इस बीच सीएम नीतीश कुमार ने 26 जनवरी के मौके पर मुख्यमंत्री आवास में झंडा उत्तोलन किया और अपने हाथों से लोगों को जलेबी खिलाई।

इस मौके पर मुख्यमंत्री ने बिहार वासियों के साथ देश की जनता को गणतंत्र दिवस की बधाई दी। उन्होंने कहा कि हमारा संविधान 1950 में इसी दिन लागू हुआ जो हमें अपने देश में स्वतंत्रता पूर्वक और सम्मान के साथ जीवन बसर करने और अपनी योग्यता और रुचि के अनुरूप जीविका का अवसर और आजादी देता है। हमें इसे हर हाल में बचाए रखना है।  इस मौके पर मुख्यमंत्री बिहार पुलिस की जवानों ने मुख्यमंत्री को गार्ड ऑफ ऑनर दिया। मुख्यमंत्री ने 26 जनवरी के मौके पर जलेबी की मिठास से वहां मौजूद लोगों का मुंह मीठा कराया। सबने सीएम की जलेबी का स्वाद लिया।  उसके बाद गांधी मैदान में राज्यपाल राजेंद्र विश्वनाथ आर्लेकर के साथ झंडा तोलन के लिए रवाना हो गए। डिप्टी सीएम तेजस्वी यादव भी गांधी मैदान में उनके साथ मौजूद हैं।

मुख्यमंत्री ने इससे पहले नीतीश कुमार ने पद्म पुरस्कार विजेताओं को बधाई दी। प्रसिद्ध डॉक्टर पूर्व केंद्रीय मंत्री और वरिष्ठ भाजपा नेता सीपी ठाकुर एवं स्वच्छता अभियान के महानायक बिंदेश्वरी पाठक को पद्मभूषण से नवाजा गया है। इसके अलावे बिहार के कई गुमनाम विभूतियां को गणतंत्र दिवस की पूर्व संध्या पर पद्मश्री सम्मान दिया गया । नीतीश कुमार ने सब को इस उपलब्धि के लिए बधाई देते हुए कहा कि इससे हमारे राज्य का मान सम्मान बढ़ा है।

दरअसल बिहार की राजनीति दो दिनों से बहुत गर्म है। कहा जा रही है कि कभी भी नीतीश कुमार कोई बड़ा फैसला ले सकते हैं। लालू कांग्रेस का साथ छोड़कर बीजेपी के साथ जाने की चर्चा जोरों पर है।
 

हिन्दुस्तान का वॉट्सऐप चैनल फॉलो करें