ट्रेंडिंग न्यूज़

Hindi News बिहारबिहार के सभी ग्रामीण टोले मेन रोड से जुड़ेंगे, जनता दरबार में केस आने पर नीतीश ने सचिव की लगाई क्लास

बिहार के सभी ग्रामीण टोले मेन रोड से जुड़ेंगे, जनता दरबार में केस आने पर नीतीश ने सचिव की लगाई क्लास

टना के पालीगंज के महादलित टोले के एक मामले में मुख्यमंत्री ने डीएम को फोनकर निर्देश दिया कि वह जाकर पूरे मामले को देखें। सीएम नीतीश कुमार ने कहा कि शीघ्र वहां संपर्क पथ का निर्माण करायें।

बिहार के सभी ग्रामीण टोले मेन रोड से जुड़ेंगे, जनता दरबार में केस आने पर नीतीश ने सचिव की लगाई क्लास
Sudhir Kumarहिंदुस्तान,पटनाTue, 21 Feb 2023 07:05 AM
ऐप पर पढ़ें

मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने पदाधिकारियों को निर्देश दिया है अब भी जो ग्रामीण टोले संपर्क पथ से वंचित हैं, वहां यह सुविधा उपलब्ध करायें। जनता के दरबार में मुख्यमंत्री कार्यक्रम में इस तरह की कई शिकायतें आईं। इस पर मुख्यमंत्री ने ग्रामीण कार्य के सचिव को फोन कर कहा कि सभी टोलों को जोड़ने की योजना बनी हुई है, फिर भी इस तरह की शिकायतें क्यों आ रही हैं? तत्काल देखें और पथ का निर्माण करायें। पटना के पालीगंज के महादलित टोले के एक मामले में मुख्यमंत्री ने डीएम को फोनकर निर्देश दिया कि वह जाकर पूरे मामले को देखें। शीघ्र वहां संपर्क पथ का निर्माण करायें। ग्रामीण कार्य विभाग से भी बात करें।

जनता के दरबार में मुख्यमंत्री कार्यक्रम में विभिन्न जिलों से 51 लोगों ने समस्याओं को मुख्यमंत्री के समक्ष रखा, जिसके तत्काल निष्पादन का निर्देश उन्होंने संबंधित विभागों को पदाधिकारियों को दिया। मुजफ्फरपुर से आए एक फरियादी ने गुहार लगाया कि उनके गांव में 300 परिवारों के आवागमन के लिये अब तक रास्ते का निर्माण नहीं कराया गया है। नालंदा के युवक ने कहा कि 1500 परिवारों वाले टोले के लिए अब तक संपर्क पथ का निर्माण नहीं कराया जा सका है, जिससे आवागमन में काफी दिक्कतों का सामना करना पड़ता है। सारण के व्यक्ति ने गांव में पुल निर्माण को लेकर शिकायत की और अधूरे पड़े कार्य को जल्द पूर्ण कराने का अनुरोध किया। मुख्यमंत्री ने मामले में संबंधित विभाग के अधिकारियों को जांच कर समुचित कार्रवाई का निर्देश दिया।

बिजली बिल में शिकायत पर सीएम गंभीर

जनता के दरबार में मुख्यमंत्री कार्यक्रम में बिजली बिल अधिक आने की तीन शिकायतें पहुंची। एक व्यक्ति ने शिकायत की कि निरंतर समय पर बिजली बिल के भुगतान के बाद भी अचानक 38 हजार का बिल आ गया है। सभी शिकायतों पर शीघ्र कार्रवाई का निर्देश मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने ऊर्जा विभाग को दिया है। साथ ही यह भी कहा कि ऐसा क्यों हो रहा है, इसकी जांच करें।

सीवान के एक व्यक्ति ने शिकायत की कि वहां डस्टबीन खरीद में घोटाला हुआ है। दरभंगा के एक व्यक्ति ने शिकायत की कि स्वच्छता योजना में बिना शौचालय का निर्माण कराये राशि का भुगतान कर दिया गया। 2012-13 में राज्य खाद्य निगम में हुए गबन की शिकायत एक व्यक्ति ने की। सीएम ने इन मामलों की जांच का निर्देश दिया। मुंगेर के एक व्यक्ति ने कहा कि पिछले वर्ष धान खरीद का पैसा अब तक नहीं मिला है। सीएम ने सहकारिता विभाग को तत्काल कार्रवाई का निर्देश दिया। पश्चिम चंपारण से आयी एक महिला ने कहा कि उनके पति वन रक्षी थे। उनके निधन के बाद अनुकंपा पर आश्रित को अब तक नौकरी नहीं मिली है। कैमूर के फरियादी ने कहा कि उनके गांव के सभी घरों में नल का जल नहीं पहुंचा है।

हिन्दुस्तान का वॉट्सऐप चैनल फॉलो करें