After training you go to abroad then you will be able to come safe only Sushil Modi - विदेश जाएं तो प्रशिक्षण लेकर तभी सुरक्षित जा पाएंगे: सुशील मोदी DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

विदेश जाएं तो प्रशिक्षण लेकर तभी सुरक्षित जा पाएंगे: सुशील मोदी

उपमुख्यमंत्री सुशील कुमार मोदी ने कहा है कि हुनर हो तो देश-प्रदेश या विदेश में भी रोजगार मिल जाएगा। बिहार में भी काम उपलब्ध है। लेकिन अगर कोई बाहर जाना चाहता है तो वह प्रशिक्षित व सुरक्षित जाए। खासकर विदेश जाने वालों से अपील है कि वे पटना, गया, मुजफ्फरपुर व दरभंगा में खुले केंद्रों में आवश्यक प्रशिक्षण हासिल कर लें ताकि उन्हें परदेस में रोजी-रोजगार में परेशानी नहीं हो। सोमवार को अधिवेश भवन में आयोजित श्रम कल्याण दिवस के मौके पर विदेश मंत्रालय के सहयोग से खोले गए चारों विदेश प्रस्थान पूर्व उन्मुखीकरण प्रशिक्षण केंद्रों का औपचारिक उद्घाटन हुआ। 

इस मौके पर उपमुख्यमंत्री ने कहा कि बिहार से 2017 में 69,426, वर्ष 2018 में 59,181 और अगस्त 2019 तक 25,660 लोग विदेश खासकर खाड़ी देशों में गए। विदेश जाकर काम करना गलत नहीं है। लेकिन बाहर जाएं तो नियमानुसार जाएं ताकि परेशानी होने पर सरकार मदद कर सके। अभी चार शहरों में ऐसे केंद्र खुले हैं। उपमुख्यमंत्री ने श्रम संसाधन विभाग को सीवान और गोपालगंज में भी ऐसे केंद्र खोलने को कहा। 

गंगवार का बयान तोड़-मरोड़कर पेश किया गया 
केंद्रीय मंत्री संतोष गंगवार का बचाव करते हुए कहा कि उनके बयान को तोड़-मरोड़कर पेश किया गया। वे खुद उत्तर भारतीय हैं तो वे अयोग्य कैसे कह सकते हैं। उनका कहना था कि दक्षिण भारत के लोग बेहतर तरीके से प्रशिक्षण लेते हैं। 

पेंशन योजना का लाभ उठाएं मजदूर, किसान व व्यापारी
उपमुख्यमंत्री ने कहा कि केंद्र सरकार की ओर से पेंशन योजना शुरू की गई है। किसान, व्यापारी और मजदूर इसका लाभ उठा सकेंगे। इस योजना के लाभुकों को 60 वर्ष की आयु के बाद प्रतिमाह कम से कम तीन हजार मासिक पेंशन मिलेगी। ऐसी फैक्ट्री जहां 10 से अधिक कामगार हैं, अब उसका संयुक्त निरीक्षण और 24 घंटे के अंदर ऑनलाइन रिपोर्ट जमा करना अनिवार्य किया गया है। बिहार सरकार श्रम कानूनों को ऑनलाइन कर रही है। कारखानों के निबंधन लाइसेंस की अवधि पांच से बढ़ाकर 10 वर्ष कर दिया गया है। 

श्रम संसाधन मंत्री विजय कुमार सिन्हा ने मजदूरों के हित में चलाई जा रही योजनाओं के बारे में बताया। स्वागत भाषण श्रम संसाधन के अपर मुख्य सचिव सुधीर कुमार और धन्यवाद ज्ञापन निदेशक धर्मेन्द्र सिंह ने किया। समारोह में सरकार की विभिन्न योजनाओं के तहत दर्जनों श्रमिकों व उनके परिजनों को सरकारी राहत राशि प्रदान की गई। मौके पर विदेश मंत्रालय के अधिकारी अमृत लुगुन, सोमेश्वर के अलावा श्रम विभाग के अन्य अधिकारी मौजूद थे। 

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:After training you go to abroad then you will be able to come safe only Sushil Modi