ट्रेंडिंग न्यूज़

अगला लेख

अगली खबर पढ़ने के लिए यहाँ टैप करें

Hindi News बिहारकोर्ट जा रहे अधिवक्ता पिता-पुत्र की हत्या; बदमाशों ने बरसाईं अंधाधुंध गोलियां, वकीलों में आक्रोश

कोर्ट जा रहे अधिवक्ता पिता-पुत्र की हत्या; बदमाशों ने बरसाईं अंधाधुंध गोलियां, वकीलों में आक्रोश

छपरा के मुफस्सिल थाना इलाके में कोर्ट में जा रहे वकील पिता-पुत्र को गोलियों से भून दिया। भूमि विवाद में बदमाशों ने दोहरे हत्याकांड को अंजाम दिया। घटना के बाद से वकीलों में आक्रोश है।

कोर्ट जा रहे अधिवक्ता पिता-पुत्र की हत्या; बदमाशों ने बरसाईं अंधाधुंध गोलियां, वकीलों में आक्रोश
-
Sandeepसंवाददाता,छपराWed, 12 Jun 2024 09:07 AM
ऐप पर पढ़ें

छपरा जिले के मुफस्सिल थाना क्षेत्र के सीसीएस स्कूल और दूधिया पुल के पास पट्टीदारों से भूमि विवाद में आज सुबह गोलीमार कर अधिवक्ता पिता-पुत्र की हत्या कर दी गई। बाइक पर सवार हो कर दोनों लोग छपरा सिविल कोर्ट आ रहे थे। मेथवलिया गांव के रहने वाले अधिवक्ता राम अयोध्या राय पूर्व में एपीपी भी रह चुके हैं। उनके पुत्र सुनील राय पिता के साथ ही कोर्ट में प्रैक्टिस करते थे। हत्या के बाद से वकीलों में काफी आक्रोश है। 


वकीलों ने घटना पर शोक जताते हुए न्यायिक कार्य आज बंद कर दिया है। विधिमंडल के महासचिव अमरेंद्र सिंह ने इस बारे में पत्र भी जारी किया है। सदर अस्पताल में काफी संख्या में वकील जुटे हुए हैं। घटना के बारे में लोगों का कहना है कि दोनों एक ही बाइक पर सवार होकर कोर्ट के लिए  निकले थे तभी बाइक सवार पांच अपराधियों ने दोनों को घेर लिया और अंधाधुंध फायरिंग करने लगे। इस दौरान  दोनों लोगों की घटनास्थल पर ही मौत हो गई। 

घटना को अंजाम दे कर अपराधी बाइक से सीधे बिंद टोलिया की तरफ फरार हो गए।  हालांकि कुछ लोगों ने उन्हें पकड़ने की  भी कोशिश की लेकिन सभी अपराधी भागने में सफल हो गए। घटनास्थल पर मौजूद लोगों ने हत्या का कारण प्रारम्भिक तौर पर पट्टीदार के साथ भूमि विवाद ही बताया है लेकिन पुलिस अन्य बिंदुओं पर भी जांच कर रही है। 

घटनास्थल से कारतूस के कई खोखे भी मिले हैं। उधर घटना की सूचना मिलते ही अधिवक्ताओं की टीम ने छपरा सदर अस्पताल पहुंचकर स्थिति का जायजा लिया। घटनास्थल व सदर अस्पताल  पहुंच कर मुफस्सिल पुलिस ने  घटना की विस्तृत जानकारी ली।  छपरा सदर अस्पताल पहुंचे घर वाले की चीख-पुकार  से मातम की स्थिति बनी हुई है।

पट्टीदार से पुराना है भूमि विवाद। दो साल पहले भी इन पर हमला किया गया था जिसमें कनपट्टी से गोली छूती हुई निकल गयी थी और ये बाल-बाल बचे थे। इनके भतीजे को उस दौरान गोली लगी थी जिसमें वे जख्मी हो गए थे।