DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

विपक्ष के हंगामे के कारण विधानसभा की कार्यवाही स्थगित

बिहार विधानसभा

बिहार विधानसभा में आज एक बार विपक्ष ने मुजफ्फरपुर बालिका अल्पावास गृह यौन शोषण मामले को लेकर हंगामा किया, जिसके कारण सभा की कार्यवाही करीब चार मिनट बाद ही स्थगित करनी पड़ी। विधानसभा की कार्यवाही पूवार्ह्न 11:00 बजे शुरू होते ही राष्ट्रीय जनता दल (राजद) के भाई विरेंद्र ने बच्चों को लैंगिक अपराध से संरक्षण (पोक्सो) अधिनियम की विशेष अदालत का हवाला देकर मुख्यमंत्री को तुरंत इस्तीफा देने की मांग की। इसके बाद राजद के अन्य सदस्य भी मुख्यमंत्री के इस्तीफे की मांग को लेकर शोरगुल करने लगे। 

इस पर विधानसभा अध्यक्ष विजय कुमार चौधरी ने हंगामा कर रहे सदस्यों से कहा कि वे एक ही मुद्दे को सदन में कितनी बार उठायेंगे। न्यायालय ने इस मामले में मुख्यमंत्री के खिलाफ कोई बात नहीं कही है। इसलिए, सदन को चलने दें। सभाध्यक्ष के आग्रह का राजद सदस्यों पर कोई असर नहीं हुआ और वे शोरगुल तथा नारेबाजी करते हुए सदन के बीच में आ गये। 

 

तेजस्वी ने राहुल गांधी से की मुलाकात, बिहार में महागठबंधन का ऐलान जल्द

हंगामे के बीच ही संसदीय कार्य मंत्री श्रवण कुमार ने कहा कि राजद के सदस्य हर दिन एक ही मुद्दे को उठाकर सदन को चलने नहीं दे रहे हैं यह ठीक नहीं है। इनकी प्राथमिकता सदन को चलने देना नहीं बल्कि हंगामा करना है। सदन कार्य संचालन नियमावली से चलता है। यदि नेता प्रतिपक्ष इस मामले में इतनेे ही गंभीर हैं तो वह सदन में क्यों नहीं आ रहे हैं। उन्होंने कहा कि राजद के सदस्य अपना चेहरा चमकाने के लिए इस मुद्दे को बार-बार उठा रहे हैं। सभाध्यक्ष ने सदन को अव्यवस्थित देख कर सभा की कार्यवाही करीब चार मिनट के बाद ही दो बजे दिन तक के लिए स्थगित कर दी।  
 

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:Adjourned the proceedings of the bihar assembly due to the disruption of the Opposition