ट्रेंडिंग न्यूज़

Hindi News बिहारपटना स्टेशन के पास होटल और इमारतों में भीषण आग, अब तक 6 की मौत; सर्च जारी

पटना स्टेशन के पास होटल और इमारतों में भीषण आग, अब तक 6 की मौत; सर्च जारी

पटना स्टेशन के पास स्थित पाल होटल में गुरुवार को भीषण आग लग गई जिसमें 6 लोगों को मौत हो गई। मरने वालों मे दो महिला और एक पुरुष शामिल हैं। 15 घायलों को पीएमसीएच में भर्ती कराया गया है।

पटना स्टेशन के पास होटल और इमारतों में भीषण आग, अब तक 6 की मौत; सर्च जारी
Sudhir Kumarलाइव हिन्दुस्तान,पटनाThu, 25 Apr 2024 02:28 PM
ऐप पर पढ़ें

बिहार राजधानी पटना में गुरुवार को रेलवे स्टेशन के पास स्थित पाल होटल में भीषण आग लग गई । इस घटना में 6 लोगों की मौत हो गई। मरने वालों में महिलाएं और पुरुष दोनों शामिल हैं। सभी बाहरी बताए जा रहे हैं। एक दर्जन से ज्यादा  लोगों घायल अवस्था में को पीएमसीएच में भर्ती कराया गया जिनमें से कई की हालत काफी गंभीर  थी। कई 80 से 90 प्रतिशत तक जल गए हैं। इमरजेंसी में उनका इलाज किया जा रहा है। मृतकों की संख्या बढ़ सकती है। आग के शिकार होटल और अन्य इमारतों में सर्च अभियान जारी है। 

मृतकों और घायलों की संख्या के बारे में आधिकारिक बयान भी सामने आए हैं। पटना के सिटी एसपी सेंट्रल ने बताया कि पांच लोगों की इस अग्निकांड में जलकर मौत हुई है। 18 लोगों को जली और घायल अवस्था में पीएमसीएच ले जाया गया जिनमें से 12 को फौरन आईसीयू में भर्ती किया गया। इनमें से तीन की हालत बेहद नाजुक पाई गई। 

जब आग लगी तब होटल में कई लोग मौजूद थे। डीजी फायर शोभा अहोतकर ने बताया कि  सूचना मिलते ही कुछ मिनट के अंदर दमकल की कई गाड़ियां मौके पर पहुंच कर आग बुझाने में जुट गईं। 51 दमकल की मदद से दो घंटों की कड़ी मशक्कत से आग पर कंट्रोल किया गया। होटल और पास की बिल्डिंग से 45 लोगों को निकाला गया। आग लगने से इलाके में अफरातफरी मच गई। बताया जा रहा है कि गैस सिलेंडर में लीक की वजह से आग लगी। आग पर का काबू कर लिया गया है लेकिन फायर फाइटिंग टीम जले लोगों की अभी तालाश में जुटी है। 

 स्थानीय लोगों से जानकारी मिल रही है कि आग दिन के 11 बजे लगी। गैस सिलेंडर से लगी आग काफी तेजी से फैल गई। होटल वालों ने अग्निशमन यंत्र की मदद से आग बुझाने की कोशिश की लेकिन सफलता नहीं मिली। देखते-देखते आग पूरे होटल में फैल गई और आस-पास के भवनों को भी चपेट में ले दिया।सूचना मिलते हीं अग्निशमन विभाग के अफसर और फायरमैन मौके पर पहुंचे और आग बुझाने में जुट गए। पहले दो यूनिट लेकर दमकल टीम पहुंची। आग भीषण होने के कारण आस पास के फायर स्टेशनों से दमकल का प्रबंध किया गया।  स्थानीय कंकड़बाग, लोदीपुर फायर स्टेशन से दमकल की गाड़ियां मंगवाई गईं। कुल 51 दमकल की मदद से आग पर काबू पाया जा सका। घटनास्थल पर लोगों की भारी भीड़ जुट गई। ओवर ब्रिज के ऊपर और नीचे जाम लग गया। आसपास के भवन भी आग की चपेट में आ गए। पाल होटल के अलावे पंजाबी नवाबी, बलवीर साईकिल स्टोर में भी आग लग गई। स्टेट  फायर अफसर के मुताबिक 30 से ज्यादा लोगों को रेस्क्यू करके निकाला गया है।

पटना जंक्शन के पास भीषण आग,  धू-धूकर जल रही बिल्डिंग;  देखें फोटो कैसा है मंजर

जानकारी के मुताबिक होटल और आस पास के भवनों के आग की चपेट में आ जाने से दर्जनों लोग फंस गए। उन्हें निकालने के लिए क्रेन की मदद ली गई। उपरी मंजिल तक क्रेन से लोगों को निकालने में कामयाबी मिली। अग्निशमन दस्ता के साथ पटना पुलिस की टीम ने आग बुझाने और रेस्क्यू में काफी मेहनत किया। होटल पाल के पास स्थित मकानों पर चढ़कर पुलिस और फायर फाइटर्स की टीम ने आग पर नियंत्रण किया। लोगों को निकालने के बाद  एम्बुलेंस से अस्पताल भेजा गया। पुलिस के वरीय पदाधिकारी भी घटना स्थल पर पहुंच गए। पुलिस की टीम घटना स्थल पर कैंप कर रही है। पटना स्टेशन तक आने वाले सड़कों पर फिलहाल आवागमन को कंट्रोल किया गया है ताकि घटना स्थल पर बेवजह की भीड़ नहीं लगे।

आग क्यों और कैसे लगी 

प्रत्यक्षदर्शी स्टाफ रंजन ने बताया कि होटल में गैस सिलेंडर से आग लगी।  चाउमिंग व अन्य फास्ट फूड बनाने के लिए नया सिलेंडर बदलने के लिए लाया गया था जो पहले से लीक थी। तभी पहले से जल रही गैस से उसमें भी आग लग गई।। उसके बाद स्टाफ ने तीन कार्बन डाइऑक्साइड का सिलिंडर इस्तेमाल किया। फिर भी नहीं बूझ पाई। उसके बाद वहां मौजूद लोग तेज आवाज लगाते बाहर निकलकर भागे। एक गैस सिलेंडर भी ब्लास्ट हो गया। बताया जा रहा है कि अंदर में 10 से 12 गैस सिलेंडर मौजूद थे।

हादसे को लेकर जीजी होमगार्ड शोभा अहोतकर ने बताया कि फायर डिपार्टमेंट और पटना पुलिस ने जान बचाने को प्रायरिटी देते हुए काम किया। साथ ही संपत्ति के नुकसान का भी खयाल रखा गया। यह एरिया काफी संकरा है जिससे रेस्क्यू और फायर फाइटिंग में काफी दिक्कत हुई। इस इलाके में डिपार्टमेंट की टीम ने लोगों को आगाह किया लेकिन बात नहीं मानी गई। खासकर होटलों को सावधानी के लिए बार बार अगाह किया गया। अब एक बार फिर फायर ऑडिट की जाएगी और जरूत के अनुसार कार्रवाई भी होगी।

हिन्दुस्तान का वॉट्सऐप चैनल फॉलो करें