DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

नेपाल में 8 गुनी अधिक वर्षा से बाढ़ की स्थिति गंभीर: सुशील मोदी

राज्य सरकार बाढ़ की स्थिति पर अपनी बात विधान परिषद में रखेगी। नेपाल में औसत से आठ गुनी ज्यादा वर्षा होने के कारण यह स्थिति हुई है। वर्षों बाद तटबंध टूटे हैं। सरकार की पूरी तैयारी थी, लेकिन पानी का बेग अधिक होने कारण यह स्थिति बनी। 

उपमुख्यमंत्री सुशील कुमार मोदी ने सोमवार को परिषद में यह जानकारी दी। साथ ही कहा कि कार्यकारी सभापति हारुन रशीद जब समय तय करे दें, सरकार स्थिति साफ करने को तैयार है। कार्यकारी सभापति ने भी कहा कि बाढ़ की यह स्थिति वर्ष 1968 के बाद उत्पन्न हुई है। रात दस बजे तक सबकुछ ठीक था, लेकिन अचानक कोसी नदी के सभी फाटक खोल दिये जाने से स्थिति गंभीर हो गई। 

सदन की कार्यवाही शुरू होते ही कांग्रेस के प्रेमचन्द्र मिश्रा और राजद के सुबोध कुमार ने बाढ़ को लेकर सरकार पर विफलता का आरोप लगाते हुए कार्यस्थगन प्रस्ताव लाया। कार्यकारी सभापति ने दोनों प्रस्तावों को नामंजूर कर दिया, तो विपक्ष के सभी सदस्य खड़े होकर सरकार पर आरोप लगाने लगे। इससे दस मिनट तक सदन शोर शराबे में डूबा रहा। राजद के प्रदेश अध्यक्ष रामचन्द्र पूर्वे ने कहा कि सरकार को इस गंभीर विषय पर स्थिति साफ करनी चाहिए। उसके बाद उपमुख्यमंत्री ने सदन को अश्वासन दिया। 

प्रेमचन्द्र मिश्रा ने आरोप लगाया कि बाढ़ से निपटने की पहले से कोई तैयारी नहीं थी। अधिकारी बाढ़ में फंसे लोगों की मदद नहीं कर पा रहे हैं। सरकार को विशेष चर्चा करानी चाहिए। 

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:8 times more rain in Nepal Flood situation serious in Bihar Sushil Modi