ट्रेंडिंग न्यूज़

Hindi News बिहारपटना में CTET की परीक्षा में पकड़े गए 8 मुन्नाभाई, BPSC की शिक्षिका ने भी किया खेल

पटना में CTET की परीक्षा में पकड़े गए 8 मुन्नाभाई, BPSC की शिक्षिका ने भी किया खेल

पटना में सीटेट की परीक्षा में एक महिला समेत 8 मुन्नाभाई पकड़े गए हैं। जो दूसरे अभ्यर्थियों के जगह परीक्षा दे रहे थे। जिसमें BPSC की चयनित शिक्षिका भी शामिल है। पुलिस मामले की जांच में जुटी है।

पटना में CTET की परीक्षा में पकड़े गए 8 मुन्नाभाई, BPSC की शिक्षिका ने भी किया खेल
Sandeepहिन्दुस्तान टीम,पटनाMon, 22 Jan 2024 01:08 PM
ऐप पर पढ़ें

पटना के विभिन्न केंद्रों पर रविवार को सीटेट (केंद्रीय शिक्षक पात्रता परीक्षा) में महिला समेत आठ पकड़े गए। इसमें पकड़ी गई महिला बीपीएससी की शिक्षका बतायी जा रही है। इन सभी के विरुद्ध संबंधित थानों में केस दर्ज कर कार्रवाई की जा रही है। परीक्षा शुरू होने के बाद जब वीक्षक परीक्षार्थियों का प्रवेश पत्र से मिलान करने लगे तो उसमें विभिन्न परीक्षा केंद्रों पर तीन स्कॉलर पकड़े गए।

पत्रकार नगर थाना इलाके में स्थित कामर्स ऑफ कॉलेज में नालंदा जिले के गौथनगर गांव निवासी शैलेंद्र कुमार दूसरे परीक्षार्थी विकास कुमार कुशवाहा के स्थान पर परीक्षा देते हुए पकड़ा गया। विकास कुमार बक्सर जिले का रहने वाला है। इसी तरह बुद्धा कॉलोनी थाना इलाके में स्थित बीडी पब्लिक स्कूल में एक महिला परीक्षार्थी के स्थान पर परीक्षा देते हुए पटना की रिया कुमारी को पकड़ा गया।

थानेदार पिंकी कुमारी ने बताया कि रिया कुमारी उत्तर प्रदेश के एक युवती स्थान पर परीक्षा दे रही थी। यह बीपीएसएसी से चयनित शिक्षिका है। इसकी जांच की जा रही है। वहीं राजीव नगर थाना इलाके के रोड नंबर 24 में स्थित एसबीएम स्कूल में बेतिया के रहने वाले प्रकाश कुमार के स्थान पर प्रणव कुमार परीक्षा दे रहा था। आरोपित पूर्णिया का रहने वाला है।

थानेदार ने बताया कि आरोपित के विरुद्ध जांच की जा रही है। इधर दानापुर के त्रिभुवन स्कूल परीक्षा केन्द्र से नालंदा के गिरीयक निवासी राहूल राज उर्फ दुष्यंत और रूपसपुर के एमएस मेमोरियल से मधुबनी निवासी परेमश्वर कुमार पकड़ा गया है। वहीं खगौल से सुपौल निवासी चंदन कुमार को गिरफ्तार किया है। वहीं मनेर में एक छात्र व छात्रा भी पकड़ाए।


पहले दिन सोमवार को दो पेपर की परीक्षा हुई। पहली पाली में पेपर-टू की परीक्षा सुबह 9.30 से दोपहर 12 बजे तक और दूसरी पाली में पेपर-1 की परीक्षा दोपहर 2 से शाम 4.30 बजे के बीच हुई। डीएवी बीएसईबी परीक्षा केंद्र पर परीक्षार्थियों ने कहा कि गणित के सवाल का स्तर मॉडरेट था। वहीं अन्य विषयों के सवाल भी पाठ्यक्रम से ही पूछे गये थे।

कुछ परीक्षार्थियों ने कहा कि पेपर जटिल होने से सवालों को हल करने में समय ज्यादा लगा। परीक्षार्थियों के मुताबिक 30 अंक के लिए पूछे गये सीडीपी प्रश्नों का स्तर सामान्य रहा। दूसरी तरफ भाषा विषय में पैसेज का स्तर मॉडरेट स्तर का रहा। सीबीएसई की ओर से अब प्रोविजनल आंसर-की जारी की जायेगी और अभ्यर्थियों से आपत्तियां मांगी जायेगी। परीक्षा का रिजल्ट फरवरी के अंत तक घोषित हो सकता है

हिन्दुस्तान का वॉट्सऐप चैनल फॉलो करें