DA Image
हिंदी न्यूज़ › बिहार › बिहार: पद सृजन के बाद नियुक्त होंगे 3523 शारीरिक शिक्षा एवं स्वास्थ्य अनुदेशक
बिहार

बिहार: पद सृजन के बाद नियुक्त होंगे 3523 शारीरिक शिक्षा एवं स्वास्थ्य अनुदेशक

हिन्दुस्तान,पटनाPublished By: Abhishek Tiwari
Fri, 26 Feb 2021 10:50 PM
बिहार: पद सृजन के बाद नियुक्त होंगे 3523 शारीरिक शिक्षा एवं स्वास्थ्य अनुदेशक

बिहार विद्यालय परीक्षा समिति द्वारा आयोजित परीक्षा में उत्तीर्ण होने वाले 3523 अभ्यर्थी पद सृजित होने के बाद स्कूलों में शारीरिक शिक्षा एवं स्वास्थ्य अनुदेशक के पद पर बहाल हो पाएंगे। राज्य सरकार की ओर से शुक्रवार को विधानसभा में सह जानकारी दी गई। ध्यानाकर्षण के माध्यम से भाई वीरेन्द्र, आलोक मेहता, अवध बिहारी चौधरी समेत आधा दर्जन से अधिक विधायकों ने यह मामला उठाया था।

विधायकों का कहना है कि बिहार विद्यालय परीक्षा समिति ने राज्य के सभी 8386 मध्य विद्यालयों में एक-एक शारीरिक शिक्षा सह स्वास्थ्य अनुदेशक की बहाली के लिए 16 दिसम्बर 2019 को ही परीक्षा ली थी। 11 फरवरी 2020 को 8386 रिक्त पदों के विरुद्ध 3523 अभ्यर्थियों को सफल घोषित किया गया परंतु अब तक इनकी नियुक्ति विभाग ने नहीं की है। यह परीक्षा कोर्ट में दायर अवमाननावाद के निर्देश के आलोक में ली गई थी। इस पर प्रभारी मंत्री श्रवण कुमार ने बताया कि 8386 पदों के सृजन की कार्रवाई शिक्षा विभाग द्वारा चल रही है। पदों के सृजित होते ही सफल अभ्यर्थियों की नियुक्ति कर ली जाएगी।

सर्वजीत के सवाल पर ऊर्जा मंत्री ने काम रोक जांच का दिया आदेश
बोधगया के विधायक कुमार सर्वजीत अपने ही एक सवाल पर तब उलझ गए जब ऊर्जा मंत्री बिजेन्द्र प्रसाद यादव ने उनके उठाए मुद्दे को लेकर सदन में ही तत्काल काम रोकने का आदेश दे दिया और मामले की जांच भी कराने की बात कही। दरअसल विधायक ने बोधगया नगर पंचायत के अंतर्गत अंडर ग्राउंड केबलिंग को लेकर कहा कि बगैर अनापत्ति प्रमाण पत्र लिए कार्य कराया जा रहा है। इसपर ऊर्जा मंत्री ने कहा कि विकास का कार्य होता है तो थोड़ी बहुत परेशानी उठानी पड़ती है। जो एजेंसी कोड़ती है वही सड़क बनाती भी है। ठीक है, आप चाहते हैं कि काम बंद हो जाय तो यही सही। इसपर कुमार सर्वजीत ने कहना चाहा कि मेरा आशय काम रुकवाना नहीं था, लेकिन मंत्री अपने फैसल पर अड़े रहे।

संबंधित खबरें