DA Image
6 अगस्त, 2020|1:20|IST

अगली स्टोरी

बिहार में कुदरत का कहर, आकाशीय बिजली गिरने से 27 लोगों की मौत, सीएम नीतीश ने की 4 लाख रुपए मुआवजे की घोषणा

chief minister nitish  in slbc meeting

बिहार में गुरुवार को आकाशीय बिजली (ठनका) ने फिर कहर बरपाया। राज्यभर में 27 लोगों की मौत ठनके की चपेट में आने से हो गई। सबसे ज्यादा 15 लोगों की मौत उत्तर बिहार में हुई। कोसी और सीमांचल में पांच लोगों की जान चली गई जबकि पटना में दुल्हिनबाजार के पांच समेत छह लोगों की मौत हो गई। पूर्णिया में लालगंज पंचायत के विक्रमपट्टी निवासी 50 वर्षीय व्यक्ति की जान भी ठनका गिरने से चली गई। हालांकि आपदा प्रबंधन विभाग के अनुसार 26 लोगों की मौत ठनके की चपेट में आने से हुई है।

समस्तीपुर में वज्रपात से तीन बच्चों समेत छह लोगों की मौत हुई है। इस जिले के रोसड़ा में ठनका गिरने से तीन लोगों की मौत हो गई। आम के बाग में गए दो बच्चों समेत तीन लोगों की मौत हो गई। सरायरंजन लाटबसेपुरा में ठनका की चपेट में आने से एक बच्चे की मौत हो गई। उधर, मोतिहारी में गुरुवार सुबह वज्रपात से महिला सहित चार लोगों की मौत हो गई जबकि पांच लोग झुलस गए।

शिवहर जिले में तरियानी छपरा निवासी रामदेव पासवान तथा माधोपुर छाता निवासी इंद्रजीत राय की 55 वर्षीय पत्नी शीला देवी की मौत हो गई। पश्चिम चंपारण के मानपुर थाना क्षेत्र के डमरापुर में अहले सुबह मिश्री यादव के पुत्र लालबाबू यादव की वज्रपात से मौत हो गई। उधर, मधेपुरा और कटिहार जिले में गुरुवार को ठनका की चपेट में आने से पांच लोगों की मौत हो गयी जबकि चार लोग झुलस गए। मरनेवालों में मधेपुरा के दो तथा कटिहार के तीन लोग शामिल हैं।

बिहार में दो दिनों तक ठनका गिरने का अलर्ट

मौसम विज्ञान केंद्र पटना ने राज्य के अलग-अलग हिस्सों में 48 घंटे तक ठनका गिरने का अलर्ट जारी किया है। इन इलाकों से गरज-तड़क के साथ बारिश के भी आसार हैं। लोगों से सावधान रहने की अपील की गई है।

धूप के बाद बारिश

गुरुवार को पटना सहित राज्य के कई जिलों में बारिश हुई। कई जगह ठनके भी गिरे। पटना में दोपहर तक तीखी धूप रही। दोपहर बाद अचानक मौसम बदला। गरज-तड़क के साथ बारिश हुई। ग्रामीण इलाकों में ठनका गिरा। पटना में बारिश के बाद उमस भरी गर्मी से लोगों को राहत मिली।

यहां हुई बारिश

भागलपुर, रोहतास, मुंगेर, वैशाली, पश्चिमी और पूर्वी चंपारण, औरंगाबाद, मधेपुरा, पूर्णिया , जमुई, सुपौल, भभुआ, बक्सर, नालंदा, लखीसराय, कटिहार, जहानाबाद, पटना, शेखपुरा, अरवल, भोजपुर, अररिया, बेगूसराय, पूर्णिया, समस्तीपुर, वैशाली, मधुबनी और दरभंगा।

सीएम ने आश्रित को 4-4 लाख देने का दिया निर्देश

वज्रपात से गुरुवार को राज्य के आठ जिलों में 26 लोगों की हुई मृत्यु पर मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने दुख व्यक्त किया है। साथ ही, उन्होंने मृतक के आश्रितों को अविलंब चार-चार लाख रुपये अनुग्रह अनुदान देने का निर्देश दिया है। वज्रपात से पटना में छह, समस्तीपुर में सात, पूर्वी चंपारण में चार, पश्चिम चंपारण में एक, शिवहर में दो, कटिहार में तीन, मधेपुरा में दो और पूर्णिया में एक व्यक्ति की मौत हुई है। मुख्यमंत्री ने कहा है कि आपदा की इस घड़ी में वे प्रभावित परिवारों के साथ हैं। उन्होंने लोगों से अपील की है कि खराब मौसम में पूरी सतर्कता बरतें। खराब मौसम होने पर वज्रपात से बचाव के लिए आपदा प्रबंधन विभाग द्वारा समय-समय पर जारी किए गए सुझावों का पालन करें।

  • Hindi News से जुड़े ताजा अपडेट के लिए हमें पर लाइक और पर फॉलो करें।
  • Web Title:22 People Died In Bihar After Lighting In Patna West Champaran East Champaran Sheohar Madhepura Katihar Samastipu