ट्रेंडिंग न्यूज़

Hindi News बिहारबिहार में अलग-अलग जगहों पर डूबने से एक दिन में 12 लोगों की मौत, मरने वालों में सात बच्चे

बिहार में अलग-अलग जगहों पर डूबने से एक दिन में 12 लोगों की मौत, मरने वालों में सात बच्चे

गया, औरंगाबाद, अरवल, दरभंगा, समस्तीपुर, सुपौल और जमुई जिले में सोमवार को अलग-अलग जगहों पर एवं विभिन्न कारणों से 12 लोग डूबकर मर गए। वहीं, दो बच्चियों की तलाश जारी है। मरने वालों में सात बच्चे थे।

बिहार में अलग-अलग जगहों पर डूबने से एक दिन में 12 लोगों की मौत, मरने वालों में सात बच्चे
Jayesh Jetawatहिन्दुस्तान,पटनाTue, 26 Sep 2023 06:51 AM
ऐप पर पढ़ें

बिहार में बारिश के मौसम में सूबे में डूबने की घटनाएं बढ़ गई हैं। यह चिंता का विषय है। इसके बावजूद लोग सचेत नहीं हो रहे हैं। सोमवार को अलग-अलग जिलों में 12 लोगों की डूबने से मौत हो गई। जबकि दो बच्चियों की तलाश जारी है। गया में तीन बच्चे, औरंगाबाद में एक वृद्ध महिला, अरवल में जुड़वा भाई व अधेड़, दरभंगा में दो युवक, समस्तीपुर में एक महिला जबकि सुपौल व जमुई में दो किशोर डूब गए।

सुपौल और जमुई में दो किशोर डूब गए। सुपौल में हरदी पश्चिम पंचायत के इटहरी वार्ड 13 में तिलाबे नदी में डूबने से मुरली की मौत हो गई। वहीं जमुई के गिद्धौर के पतसंडा में तालाब में डूबने से सूरज की जान चली गई। मुंगेर के हवेली खड़गपुर प्रखंड में महाने नदी में नहाने गईं दो बच्चियां डूब गईं। दरभंगा में डूबने से दो की मौत हो गई। गौड़ाबौराम प्रखंड के सनकन्हई गांव में नहाने के दौरान तालाब में डूबने से एक युवक अखलाकुर रहमान की मौत हो गई। बहेड़ा के कल्याणपुर गांव में मछली मारने के दौरान जेसीबी से बने गड्ढे में डूबने से वकील मुखिया (46) की मौत हो गई। समस्तीपुर के पटोरी के लोदीपुर धीर स्थित वाया नदी घाट पर कपड़ा धोने के क्रम में महिला सुमन डूब गई। औरंगाबाद के कुटुंबा में वृद्ध महिला लक्ष्मीनिया देवी (80 वर्ष)का शव बरामद हुआ।

कर्मा पूजा के लिए झाड़ लाने गई दो बच्चियां आहर में डूबीं, तीन को बचाया
गया के फतेहपुर अंतर्गत भटौरा गांव के आहर में डूबने से दो बच्चियों संगम कुमारी (13) और रतिम कुमारी (10) की मौत हो गई। दोनों को बचाने गईं तीन बच्चियों को ग्रामीणों ने बचा लिया। रतिम कर्मा पूजा के लिए दोस्तों के साथ झाड़ लाने गई थी। झाड़ तोड़ने के दौरान उसका पैर फिसल गया और आहर के पानी भरे गड्ढे में डूबने लगी। रतिमा को डूबता देख उपेंद्र सिंह की 12 वर्षीय पुत्री संगम तीन दोस्तों के साथ पानी में कूद पड़ी। पांचों को डूबता देख एक अन्य बच्ची के चिल्लाने की आवाज सुन ग्रामीण दौड़े। ग्रामीणों ने आहार में जाकर तीन बच्चियों को बचा लिया, लेकिन रतिमा व संगम की तब तक मौत हो चुकी थी।

खेलने के दौरान पांच साल के जुड़वां भाई कुएं में गिरे, डूबने से मौत
अरवल में अलग- अलग जगहों पर डूबने से दो बच्चों सहित तीन की मौत हो गई। मेहंदिया के शिवपुर गांव में दो जुड़वा भाई कुएं में डूब गए। प्रयाग चौधरी के इन दोनों बच्चों की उम्र पांच साल थी। आशंका है कि खेलने के क्रम में दोनों कुएं के पास गए होंगे और उसमें गिरने से दोनों की मौत हो गई। दोनों सोमवार सुबह से ही गायब थे। बाद में घर के बगल में स्थित कुएं में जाकर देखा गया और संदेह के आधार पर उसमें बांस डाला गया। तब बच्चों का कपड़ा दिखाई दिया। इसके बाद दोनों बच्चों को निकाल अस्पताल जहां चिकित्सकों ने मृत घोषित कर दिया। वहीं, परासी में सोन नदी में डूबने से एक व्यक्ति की मौत हो गई।

हिन्दुस्तान का वॉट्सऐप चैनल फॉलो करें