Tuesday, January 25, 2022
हमें फॉलो करें :

मल्टीमीडिया

अगली खबर पढ़ने के लिए यहाँ टैप करें

हिंदी न्यूज़ बिहार सीवानदरौली में ससुराल जा रहे युवक की गोली मार हत्या

दरौली में ससुराल जा रहे युवक की गोली मार हत्या

हिन्दुस्तान टीम,सीवानNewswrap
Tue, 30 Nov 2021 07:31 PM
दरौली में ससुराल जा रहे युवक की गोली मार हत्या

पेज तीन की लीड

बेखौफ

रात में गाड़ियों की लाइट पर राहगीरों की नजर सड़क किनारे गई तो शव दिखा

परिजनों के चीत्कार से गांव में पसरा मातमी सन्नाटा

पुलिस ने शव को पोस्टमार्टम के लिए सीवान भेजा

02 गोली का खोखा पुलिस ने मौके से किया बरामद

फोटो-06 मंगलवार को दरौली के गौरी गांव में रोते-बिलखते परिजन।

दरौली। एक संवाददाता

थाना क्षेत्र के मुड़ा कर्मवार गांव में सड़क किनारे नहर के समीप सोमवार की रात अज्ञात अपराधियों ने एक युवक की गोली मार हत्या कर दी। हत्या के बाद सड़क से नीचे शव को देख अफरातफरी मच गई। शव की जानकारी होने के बाद मौके पर पहुंची पुलिस ने शव के आसपास संदिग्‍ध वस्‍तुओं की तलाश करने के साथ ही शव की शिनाख्‍त कर ली। वहीं युवक के शव के पास से दो गोली का खोखा पुलिस ने बरामद किया है। मृत युवक थाना क्षेत्र के गौरी गांव निवासी अल्हा यादव का 29 वर्षीय पुत्र उपेंद्र यादव था। परिजनों ने बताया कि उपेंद्र सोमवार की देर शाम बलहुं विश्वनिया सरहरवा सड़क से अपनी ससुराल हरनाटार जा रहा था। तब तक अज्ञात अपराधियों ने गोली मार हत्या कर दी। सोमवार की रात गाड़ियों की लाइट पर राहगीरों की नजर सड़क किनारे गई तो एक अज्ञात शव दिखा। देखते ही देखते वहां पर काफी संख्या में लोगों की भीड़ इकट्ठी हो गई। इसी बीच ग्रामीणों ने इसकी सूचना पुलिस को दी। जानकारी के बाद थानाध्यक्ष रितेश कुमार मंडल मौके पर पहुंच शव की शिनाख्त कराने में जुटे। शिनाख्त के बाद पुलिस ने शव को पोस्टमार्टम के लिए सीवान भेज दिया। मंगलवार की सुबह दरौली सरयू नदी के किनारे उसका अंतिम संस्कार कर दिया। इधर हत्या की खबर मिलते हीं थाना क्षेत्र में सनसनी फैल गई। उधर परिजनों के रोने से गौरी गांव में मातमी सन्नाटा पसर गया। पुलिस ने बताया कि अपराधियों की गिरफ्तारी के लिए कार्रवाई की जा रही है। जल्द ही घटना का उद्भेदन कर लिया जाएगा।

कईसे जियब हो दादा

युवक की गोली मार हत्या के बाद माता लीलावती देवी सहित परिजनों के रोने से माहौल गमगीन हो गया। उसकी मां रोने के क्रम में बोल रही थी कि अब कईसे जियव हो दादा। कहां गइल हो लाल। वहीं युवक के एक पांच वर्षीय व सात वर्षीय बच्चों सहित परिजनों के रोने से सबकी आंखें नम हो रही थीं।

epaper

संबंधित खबरें