DA Image
Friday, December 3, 2021
हमें फॉलो करें :

अगली खबर पढ़ने के लिए यहाँ टैप करें

हिंदी न्यूज़ बिहार सीवानजमीन के विवाद में हुई मारपीट में महिला की मौत

जमीन के विवाद में हुई मारपीट में महिला की मौत

हिन्दुस्तान टीम,सीवानNewswrap
Sun, 14 Nov 2021 07:30 PM
जमीन के विवाद में हुई मारपीट में महिला की मौत

पेज तीन की लीड

एफआईआर

गैरमजरूआ जमीन पर झोपड़ी रखने को लेकर विवाद में हुई मारपीट के दौरान गई जान

गैरमजरूवा जमीन को लेकर हुआ विवाद

घटना में मृतका का पुत्र भी हुआ है घायल

04 लोगों को मृतका के परिजनों ने किया आरोपित

03 पुत्र और एक पुत्री है मृतका ज्ञानती देवी के

फोटो-4. रविवार को शाहबाचक में महिला की हत्या के बाद रोते-बिलखते परिजन।

बड़हरिया। एक संवाददाता

थाना क्षेत्र के शाहबाचक गांव में रविवार की सुबह गैरमजरूआ जमीन पर झोपड़ी रखने को लेकर विवाद हो गया। इस दौरान दोनों पक्षों में जमकर हुई मारपीट में एक महिला की मौत हो गई। मृतक शाहबाचक निवासी लालदेव यादव की पत्नी ज्ञानती देवी थी। घटना के बारे में बताया जाता है कि रविवार की सुबह साढ़े छह बजे लालदेव यादव के घर के सामने साढ़े ग्यारह कट्ठा गैरमजरूवा जमीन में उसके पट्टीदार झोपड़ी रखने जा रहे थे। तभी लालदेव यादव की पत्नी ज्ञानती देवी ने अपना जमीन बताते हुए उसमें झोपड़ी रखने से मना कर दिया। इसके बाद उसी गांव के पट्टीदार रामचंद्र यादव, राजकिशोर यादव, अवधेश यादव सहित अन्य ने मिलकर महिला की लाठी-डंडे से पिटाई कर दी। जिससे घटनास्थल पर ही उसकी मौत हो गई। इस घटना में मृतका के पुत्र अरुण कुमार को भी चोटें आई हैं। घटना की सूचना को पाकर एसआई राजेश कुमार ने दलबल के साथ घटना स्थल पर पहुंचकर शव को पोस्टमार्टम के लिए सीवान भेज दिया है। पोस्टमार्टम के बाद पुलिस ने शव को परिजनों को सौंप दिया।

महिला के पुत्र ने दर्ज कराई प्राथमिकी

इस मामले को लेकर लालदेव यादव के पुत्र अरुण यादव ने अपनी मां की हत्या करने के मामले में आवेदन देकर पट्टीदार रामचंद्र यादव, राजकिशोर यादव, अवधेश यादव, सावित्री देवी को नामजद किया है। थानाध्यक्ष प्रवीण प्रभाकर ने बताया आवेदन के आधार पर केस दर्ज कर लिया गया है। इस केस की बारीकी से जांच की जा रही है। आरोपितों की गिरफ्तारी के लिए छापेमारी की जा रही है। सभी आरोपित घर छोड़कर फरार हैं।

शव पहुंचते ही मचा कोहराम

जैसी ही मृतका का शव पोस्टमार्टम के बाद शाहबाचक गांव पहुंचा। गांव में मातमी सन्नाटा पसर गया। मृतक के परिजनों को रो-रोकर बुरा हाल है। मृतक के पति लालदेव यादव केरल में रहकर मजदूरी का काम करता है। मृतका के तीन पुत्र और एक पुत्री है। जिसमें सबसे बड़ा भाई मुकेश यादव, मुन्ना यादव, अरुण कुमार और पुत्री निशु कुमारी है। जिसमें बड़ा पुत्र मुकेश कुमार विदेश में नौकरी करता है। मुन्ना यादव अपने पिता लालदेव यादव के साथ केरल में रहकर मजदूरी करता है। इधर अपने मां के खोने में पुत्री निशु कुमारी, पुत्र अरुण कुमार बेसुध हो जा रहे थे। घर पर किसी परिवार के बड़े सदस्यों के नहीं रहने से दोनों बच्चे बेसहारा पड़े हुए है।

पंचायती से नहीं सुलझ सका था मामला

ग्रामीणों सहित आसपास के लोगों ने बताया कि उक्त जमीन को लेकर पहले से दोनों पट्टीदारों में विवाद चलता आ रहा था। अनेकों बार पंचायत कर इस मामले को सुलझाने की कोशिश की गई लेकिन मामला समझौता से नहीं बन पाता था। दोनों पक्ष अपनी जमीन बताकर वहां मवेशियों के नाद खुटा को लगा रखे थे। उसी जमीन पर झोपड़ी रखने के मामले में विवाद हो गया।

सब्सक्राइब करें हिन्दुस्तान का डेली न्यूज़लेटर

संबंधित खबरें