DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

प्रतिमा को अपमानित करने वालों को दंडित किया जाए

अनुसूचित जाति, जनजाति, ओबीसी व अल्पसंख्यक संयुक्त मोर्चा ने बुधवार को प्रतिवाद मार्च निकाल जेपी चौक पर पीएम नरेंद्र मोदी का पुतला दहन किया। प्रतिवाद मार्च वीएम हाईस्कूल से महादेवा रोड़, कचहरी, सदर अस्पताल से बबुनिया मोड़ होकर सीधे जेपी चौक पहुंचा। जहां सभा में तब्दील हो गया। राजदेव बौद्ध ने कहा कि भारत देश पर केवल मूल निवासियों का ही अधिकार होना चाहिए। मंगल कुमार साह ने कहा कि बहुजन पार्टी अपनी एकता के बल पर ही सत्ता पर कब्जा कर सकती है। रामसागर पासवान ने कहा कि सवर्ण जितना दलितों पर अत्याचार करेंगे, उतना ही दलित एकता मजबूत होगी। सर्वसम्मति से सरकार और जिला प्रशासन से मांग किया कि रघुनाथपुर में बाबा साहेब की प्रतिमा को अपमानित करने वालों को दंडित किया जाए। एससी, एसटी एक्ट, आरक्षण तथा संविधान से छेड़छाड़ पर रोक लगाई जाए। दलितों व महिलाओं पर अत्याचार बंद किया जाए। नौजवानों को रोजगार की गारंटी दी जाए। एससी, एसी एक्ट को संविधान की नौवीं सूची में शामिल किया जाए। मौके पर योगेंद्र बैठा, ओमप्रकाश राम, नंदजी राम, शंकर प्रसाद यादव, संतोष पासवान, जफर अली, इफ्तेखार आलम, आलोक बाघ, संजय दिवाकर, जयशंकर पंडित, विकास यादव, चारों अम्बेडकर छात्रावास के छात्र शामिल थे।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:Those who humiliate the statue should be punished