Tuesday, January 25, 2022
हमें फॉलो करें :

मल्टीमीडिया

अगली खबर पढ़ने के लिए यहाँ टैप करें

हिंदी न्यूज़ बिहार सीवानव्यवस्था के अभाव में नहीं पूरा हो रहा शहरी पीएचसी का उद्देश्य

व्यवस्था के अभाव में नहीं पूरा हो रहा शहरी पीएचसी का उद्देश्य

हिन्दुस्तान टीम,सीवानNewswrap
Wed, 08 Dec 2021 07:01 PM
व्यवस्था के अभाव में नहीं पूरा हो रहा शहरी पीएचसी का उद्देश्य

उपेक्षित

11 बजे से शाम सात बजे तक चलता है ओपीडी

04 बजे तक महज सात मरीजों का इलाज किया

सीवान। निज प्रतिनिधि

शहर के आम व खास सभी को स्वास्थ्य सेवाएं प्रदान करने वाली शहरी पीएचसी व्यवस्था के अभाव में अपने उद्देश्यों पर खरा नहीं उतर रहा हैं। समुचित व्यवस्था और डेडिकेटेड डॉक्टरों की प्रतिनियुक्ति नहीं होने से इसके प्रति लोगों का मोह भी भंग होता नजर आ रहा है। यदि आंकड़े पर गौर करें तो इलाज को लेकर प्रतिदिन यहां आने वाले मरीजों की संख्या दहाई तक भी नहीं है। महादेवा ओपी स्थित पीएचसी पर मंगलवार को पांच जबकि बुधवार की शाम चार बजे तक महज सात मरीजों का इलाज किया गया था। जबकि इन अस्पतालों पर एक-एक डॉक्टर डिप्टेशन में लगाए गए हैं, साथ ही उनकी सहायता में अन्य कर्मी भी ड्यूटी करते हैं। शहरी पीएचसी का उद्देश्य खासकर नौकरी पेशा से जुड़े, कामगार लोगों व उनके परिजनों के बीमार होने पर उन्हें स्वास्थ्य लाभ देने का होता है। अन्य अस्पतालों की तरह यहां भी ओपीडी संचालित किया जाता है, जहां डॉक्टर मरीजों का इलाज करते हैं। हालांकि ऐसे अस्पतालों के ओपीडी का समय अन्य अस्पतालों की ओपीडी से भिन्न है। मिली जानकारी के अनुसार रविवार को छोड़कर सप्ताह के सभी दिन सुबह ग्यारह बजे से शाम सात बजे तक ओपीडी खुलने का समय है।

अस्पताल में एक भी डेडिकेटेड डॉक्टर नहीं

मिली जानकारी के अनुसार जिला मुख्यालय स्थित दो शहरी पीएचसी में बीते दिनों चार डॉक्टरों की प्रतिनियुक्ति की गयी थी। लेकिन, एक भी डॉक्टर ने योगदान नहीं दिया। मिली जानकारी के अनुसार स्थापना से लेकर अबतक इन दोनों पीएचसी में डेडिकेटेड डॉक्टर रहे ही नहीं हैं। किसी तरह सदर प्रखंड के डॉक्टरों को डिप्टेशन पर रखकर यहां की व्यवस्था चलायी जाती है।

epaper

संबंधित खबरें