DA Image
14 अगस्त, 2020|8:16|IST

अगली स्टोरी

सरयू नदी ने खतरे के निशान को किया पार

पहाड़ी इलाकों में हो रही मूसलाधार बारिश और बैराजों से पानी छोड़ने के चलते मैदानी इलाकों की नदियों में बाढ़ की स्थिति पैदा हो गई है। सरयू व बूढ़ी गण्डक खतरे के निशान से ऊपर बह रही हैं। बाढ़ नियंत्रण विभाग द्वारा दी गई जानकारी के मुताबिक सरयू नदी का निम्न जलस्तर 60.82 है जो वर्तमान समय मे 60. 83 घनसेंटीमीटर ऊपर बह रही है। यूपी के चित्रकूट और गिरजा बैराज से लगातार पानी छोड़ने से यह स्थिति हुई है। पिछले तीन-चार दिनों तक पानी का स्थिति बिल्कुल सामान्य थी। अचानक गिरजा बैराज के गेट संख्या 12 और 13 को खोलने से नदियों का जलस्तर बढ़ गया। सरयू के बढ़ते जलस्तर से ग्यासपुर, तिरबलुआ, बलुआ, खड़ौली, मैरिटार, पाण्डेयपार, योगियाडीह, गुठनी, गोहरुआ, श्रीकरपुर सहित दर्जनों गांवों पर बाढ़ का खतरा मंडराने लगा है। कई गांवों के निचले इलाकों में पानी घुसने से लोगों को काफी परेशानियों का सामना करना पड़ रहा है। बढ़ते जलस्तर से लोगों में काफी भय है। बाढ़ नियंत्रण विभाग के एग्जक्यूटिव इंजीनियर हरे कृष्ण प्रसाद ने बताया कि हमारी टीम ने तिरबलुआ, ग्यासपुर, योगियाडीह, बलुआ सहित आधा दर्जन से अधिक गांव का दौरा किया। जहां कटाव व पानी का अत्यधिक दबाव है वहां पर बालू की बोरियां व एमसी किट लगाने का निर्देश दे दिया गया है।

  • Hindi News से जुड़े ताजा अपडेट के लिए हमें पर लाइक और पर फॉलो करें।
  • Web Title:Saryu river crossed the danger mark