DA Image
25 अक्तूबर, 2020|2:31|IST

अगली स्टोरी

जलजमाव के साथ कूड़े के ढेर के बीच रह रहे लोग

नगर पंचायत में सफाई की हालत बदतर हो गई है। पांच मोहल्ले जलमग्न हैं। चार से अधिक मोहल्ले में लोग कूड़े के ढेर के बीच रहने को विवश हैं। शिवपुर मठिया में सड़क किनारे अस्थाई डंपिंग ग्राउंड बना दिया गया है। नगर पंचायत के सफाईकर्मी कूड़ा फेंककर चले जा रहे हैं। नहर पुल के समीप खुले में कूड़ा रखने से यहां रहने वाले सैकड़ों लोगों पर संक्रामक रोग का खतरा मंडरा रहा है। इस समय एएसई की बीमारी बच्चों में होती है। इस वायरस के वाहक सुअर होते हैं। दिनभर सुअर के जमा रहने से मोहल्ले के लोग बच्चों को बाहर भेजने से कतरा रहे हैं। गंदगी के कारण देर शाम तक सुअर का जमावड़ा रहता है। डंपिंग ग्राउंड का कूड़ा सड़क पर रखने से लोग नाराज हैं। सफाई पर लगभग तीन लाख रुपये प्रति माह खर्च के बाद भी सड़क पर कूड़ा गिराया जा रहा है। इस स्थान पर अब तक डस्टबिन भी नहीं लगाया गया है। मोहल्ले के लोग लिखित शिकायत भी कर चुके हैं। उसके बाद भी इस मामले में पहल नहीं हो रही है। नगर पंचायत को ओडीएफ घोषित किया जा चुका है। शौचालय के अभाव में लोग खुले में शौच कर रहे हैं। खुले में शौच के लिए जुर्माना का प्रावधान रखा गया है। लेकिन, खुले में शौच पर रोक और जुर्माना को लेकर कोई कार्रवाई नहीं हो रही है।

क्या कहती हैं नगर पंचायत अध्यक्ष

इस संबंध में नगर पंचायत अध्यक्ष सुभावती देवी ने कहा कि सफाई कार्य चल रहा है। जल्द गंदगी की शिकायत को दूर कर दिया जाएगा।

  • Hindi News से जुड़े ताजा अपडेट के लिए हमें पर लाइक और पर फॉलो करें।
  • Web Title:People living among garbage piles along the waterway