Organizing Bhandara at the conclusion of Yagya - यज्ञ के समापन पर भंडारे का आयोजन DA Image
14 नबम्बर, 2019|9:53|IST

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

यज्ञ के समापन पर भंडारे का आयोजन

साईपुर, नवकाटोल, निरखापुर तिमुहानी पर आयोजित नौ दिवसीय प्रतिष्ठात्मक हरिहरात्मक महायज्ञ का समापन हवन पूजन के साथ गुरुवार को हो गया। 22 मई को इस महायज्ञ के लिए कलशयात्रा निकाली गई थी। मूर्तियों की प्राण प्रतिष्ठा के बाद हवन पूजन व भंडारे का आयोजन किया गया। भंडारे में बाल भोज व ब्राह्मण भोज कराया गया। गांव में महाप्रसाद का वितरण किया गया। इस दौरान बनारस से आए चंद्रभान द्विवेदी उर्फ केन बाबा द्वारा भागवतकथा व प्रवचन किया गया। संकट मोचन मंदिर के महंत जगतदास ने बताया कि मंदिर में शिव पर्वती, दुर्गा, हनुमान सहित 16 मूर्तियों की प्राण प्रतिष्ठा करायी गयी। 9 दिनों तक चलने वाले इस यज्ञ में रूद्र प्रताप त्रिवेदी ने वैदिक मंत्रोच्चार के साथ इस कार्य का संपादन कराया। इसमें आत्मा सिंह, राजेंद्र सिंह, सुनील कुमार सिंह, राजू कुमार सिंह सहित अन्य लोगों का सराहनीय योगदान रहा।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title: Organizing Bhandara at the conclusion of Yagya