DA Image
हिंदी न्यूज़   ›   बिहार  ›  सीवान  ›  पछिया हवा की मार से सब्जी सूखने से बचाने में जुटे किसान

सीवानपछिया हवा की मार से सब्जी सूखने से बचाने में जुटे किसान

हिन्दुस्तान टीम,सीवानPublished By: Newswrap
Sun, 25 Apr 2021 07:20 PM
पछिया हवा की मार से सब्जी सूखने से बचाने में जुटे किसान

पेज तीन के लिए

खेती किसानी

बैंगन, भिंडी, मिर्च, प्याज की खेती किए हैं किसान

डीजल की महंगाई से तीन दिन पर कर रहे पटवन

हसनपुरा। एक संवाददाता

इस बार अचानक मौसम के बदलते रूख से किसान काफी चिंतित हैं। जहां दिन के 10 बजे के बाद से ही तेज पछिया व गर्म हवा चलने लग रही है। जिसका असर सब्जी की फसल पर पड़ रहा है। अभी से भीषण गर्मी के कारण खेतों में लगी सब्जी की फसल सूखने लगी है। किसान फसल को बचाने के लिए हर दो से तीन दिनों पर ही खेत की सिंचाई कर रहे हैं। इधर डीजल की महंगाई से सिंचाई की लागत और बढ़ गयी है। जहां काफी खर्च होने से किसान काफी परेशान हैं। किसान अपने खेतों में प्याज, बैंगन, मिर्च, लौकी, भिंडी, खीरा, टमाटर, बोरो आदि की खेती किये हैं। प्रखंड क्षेत्र के कई इलाकों में सब्जी की खेती की जाती है। हालांकि सबसे अधिक उसरी में सब्जी की खेती होती है। जहां से अरंडा गोलाबाजार में किसान अपने खेतों की सब्जियां ले जाकर बेचते हैं। किसानों में गोपाल साह, टेनी साह, बलिराम साह, कन्हैया कुमार, श्यामलाल साह, शेख गुलटेन, रामपुकार भगत, महाजन रंगवा ने अपने खेतों में सब्जी की खेती की है। जहां उनके खेतों की फसलों पर मौसम की मार पड़ रही है। वहीं उसरी खुर्द के किसानों का कहना है कि एक वर्ष से दाहा नदी के किनारे लगा नलकूप बंद पड़ा है। जबकि क्षेत्र में पर्याप्त मात्रा में बिजली सप्लाई रहती है। बावजूद अपने निजी पंपिंग सेट मशीनों से सब्जी के खेतों की पटवन करते हैं। किसान बताते हैं कि हर दो दिन पर सिंचाई कर रहे हैं ताकि सब्जी की फसल बच सके। गर्मी के कारण उपज भी कम हो रही है। जिससे लागत बढ़ती जा रही है।

संबंधित खबरें