DA Image
Saturday, December 4, 2021
हमें फॉलो करें :

अगली खबर पढ़ने के लिए यहाँ टैप करें

हिंदी न्यूज़ बिहार सीवानहथिया के बाद अब चित्रा की बारिश से संकट में पड़े किसान

हथिया के बाद अब चित्रा की बारिश से संकट में पड़े किसान

हिन्दुस्तान टीम,सीवानNewswrap
Wed, 20 Oct 2021 06:21 PM
हथिया के बाद अब चित्रा की बारिश से संकट में पड़े किसान

पेज चार पर बॉटम

नुकसान

किसानों को इस बात को लेकर चिंता है कि आलू की बुआई देरी से हुई तो पूस-माघ में पाला का असर भी पड़ेगा

हथिया के बाद चित्रा की बारिश से सब्जियों को होगा नुकसान

मई से अक्टूबर के बीच सभी नक्षत्रों में इस साल हुई है बारिश

फोटो संख्या-10 बुधवार को बरहन गोपाल में सब्जी की बर्बाद फसल को दिखाता किसान।

सीवान/रघुनाथपुर। एक संवाददाता

हथिया के बाद अब चित्रा की बारिश से किसान संकट में पड़े हुए हैं। 16 से 19 अक्टूबर के बीच हल्की, मध्यम और तेज बारिश की वजह से सभी तरह की फसलों को भारी नुकसान होने की बात कही जा रही है। धान के खेतों में लबालब पानी भरे हुए हैं। जबकि, अधिकतर जगह धान कटनी के लिए तैयार हो चुके हैं। कई जगह तो घुटने तक खेतों में पानी भरे हैं। निचले इलाकों में तो झील के समान हो गए हैं। चित्रा की बारिश की वजह से बचीं-खुचीं सब्जियों को नुकसान हो सकता है। हथिया की बारिश में हाल ही में लगाई गईं मूली-पालक, टमाटर, हरी मिर्च, बैगन व फुलगोभी आदि सब्जियों को काफी नुकसान पहुंचा था। इसे लेकर किसान पहले से ही परेशान थे, रही-सही कसर चित्रा नक्षत्र की बारिश ने पूरी कर दी। 19 अक्टूबर की रात साढ़े 8 बजे से 11 बजे के बाद तक गरज के साथ खूब बारिश हुई। डीह-कोराड़ वाले खाली खेत में पानी भरे ही, बलुई क्षेत्र के खेत भी पानी-पानी हो गए।

आलू की पिछड़ सकती है बुआई

गेहूं, मटर, सरसों, चना, मक्का व तीसी आदि फसल की बुआई इस बारिश की वजह पिछड़ जाना स्वभाविक ही है। आलू की बुआई भी पिछड़ जाएगी। इसे लेकर किसान चिंतित हैं। किसानों को इस बात को लेकर चिंता है कि आलू की बुआई देरी से हुई तो पूस-माघ में पाला का असर भी पड़ेगा। सरसों की बुआई पिछड़ी तो लाही के प्रकोप का सामना करना पड़ेगा। इधर, धान पककर तैयार होने और खेत में पानी के भरे रहने से इसकी कटाई समय पर नहीं हो सकेगी। इससे बालियों से धान के झड़ने का डर है। बहुतेरे खेत ऐसे हैं, जिसमें लगी धान की पक चुकी फसल गिरकर बर्बाद हो रही है। बालियों में लगे दाने अंकुर फूटने लगे हैं। करसर पैक्स के अध्यक्ष रविरजंन सिंह ने कहा कि किसानों को इस साल काफी नुकसान होने वाला है। हल्दिया रोग का असर भी धान की बालियों में दिख रहा है।

सब्सक्राइब करें हिन्दुस्तान का डेली न्यूज़लेटर

संबंधित खबरें