DA Image
11 अगस्त, 2020|6:13|IST

अगली स्टोरी

नुनौरा व दरियापुर के लोगों का नाव ही सहारा

नुनौरा व दरियापुर के लोगों का नाव ही सहारा

बागमती नदी में आई उफान से बाढ़ का पानी बेलसंड प्रखंड के चार गांव में प्रवेश कर गया है। जिससे बाढ़ पीड़ितों के बीच तबाही मची हुई है। बाढ़ का पानी दोनों तटबंध के बीच बसे गांव नुनौरा, डुमरा, दरियापुर, मौलानगर, पुराना माड़र गंाव में फैल हुआ है। लोग जरूरत के सामान के लिए नाव ही एक मात्र सहारा है। बाढ़ पीड़ित सत्येंद्र सिंह, श्याम किशोर सिंह, मो. जावेद ने बताया कि आवागमन में भारी परेशानियों का सामना करना पड़ रहा है। आवागमन बाधित होने से लोगों को रोजमर्रा की जरूरतों के सामान के लिए भी भारी परेशानी हो रही है। लोगों को किसी भी सामान के लिए नाव का सहारा लेना पड़ रहा है। बड़े लोग एक-दो दिन भुखे रह सकते है। परंतु बच्चें व मवेशी के लिए तो उपाय करना ही होता है। 20 रूया की नमक लाने के लिए 50 रूपया नाव भाड़ा में खर्च करना पड़ रहा है। मवेशियों का चारा भी नाव से ही लाना पड़ रहा है। बाढ़ पीड़ितों ने प्रशासन से अविलंब राहत मुहैया कराने की मांग की है। बाढ़ के पानी के कारण आवागमन ठप हो गया है। लोगों ने आवागमन के लिए नाव की मांग की है। एसडीओ रामानुज प्रसाद सिंह ने बताया कि नाव की व्यवस्था की गई है।

  • Hindi News से जुड़े ताजा अपडेट के लिए हमें पर लाइक और पर फॉलो करें।
  • Web Title:The people of Nunaura and Dariyapur resort to the boat