ट्रेंडिंग न्यूज़

अगला लेख

अगली खबर पढ़ने के लिए यहाँ टैप करें

Hindi News बिहार सीतामढ़ी भासेपुर में मिले शव की हुई पहचान, परिजनों ने काटा बवाल

भासेपुर में मिले शव की हुई पहचान, परिजनों ने काटा बवाल

सीतामढ़ी/बाजपट्टी, हिटी। भासेपुर बाजार से पूरब स्थित पोखर से बरामद शव की पहचान सोमवार...


भासेपुर में मिले शव की हुई पहचान, परिजनों ने काटा बवाल
हिन्दुस्तान टीम,सीतामढ़ीMon, 27 May 2024 11:45 PM
ऐप पर पढ़ें

सीतामढ़ी/बाजपट्टी, हिटी। भासेपुर बाजार से पूरब स्थित पोखर से बरामद शव की पहचान सोमवार को कर ली गई। मृतक के शव की शिनाख्त डुमरा थाना क्षेत्र के रसलपुर गांव निवासी सीताराम राय के पुत्र संतोष कुमार राय (30 वर्ष) के रूप में की गई है। शव की पहचान होने के बाद मृतक के परिजनों का आक्रोश फूट पड़ा। मृतक के परिजन व ग्रामीण सोमवार की सुबह शव को लेकर हत्या का आरोप लगाते हुए गांव के ही कुंदन सिंह के दरवाजे पर पहुंचकर जमकर हंगामा किया। ग्रामीणों ने आरोपित पर हमला करने का प्रयास भी किया। ग्रामीण व परिजनों के आक्रोश से पूरे गांव में घंटों अराजकता का माहौल बना रहा। बाद में सूचना पर डुमरा थानाध्यक्ष अमरेन्द्र कुमार दल-बल के साथ रसलपुर गांव में पहुंचकर स्थिति नियंत्रित करने का प्रयास किया। वहीं, आरोपित को ग्रामीण व मृतक के परिजनों से छूड़ाकर हिरासत में लेकर डुमरा थाना भेज दिया। डुमरा थानाध्यक्ष के काफी समझाने के बाद मृतक के परिजन माने। इसके बाद अंतिम संस्कार के लिए शव को घर ले गए।

- परिजनों के आरोप के बाद आरोपित को लिया हिरासत में :

डुमरा थानाध्यक्ष अमरेन्द्र कुमार ने बताया कि मृतक के परिजनों ने आरोप लगाते हुए बताया कि जमीन संबंधी विवाद चल रहा था। इसको लेकर कुंदन सिंह अपने सहयोगियों के साथ मिलकर उसकी हत्या कर दी। बाद में साक्ष्य छिपाने के उद्देश्य से शव को बाजप‌ट्टी थाना क्षेत्र के भासेपुर स्थित पोखर में फेंक दिया। थानाध्यक्ष ने बताया कि ग्रामीणों के आक्रोश को देखकर परिजनों के आरोप के आधार पर आरोपित कुंदन कुमार को हिरासत में लेकर बाजपट्टी पुलिस को सूचित कर दिया गया है। फिलहाल स्थिति नियंत्रण में है। मामले में बाजपट्टी पुलिस आगे की कार्रवाई करेगी।

- गोदना लिखे शव मिलने की सूचना पहुंचे अस्पताल :

सदर अस्पताल पहुंचे सीताराम राय ने पुत्र के शव को देखकर उसकी शिनाख्त की। पिता ने बताया कि शनिवार की शाम संतोष अपने मित्रों के साथ केथरिया गांव में चल रहे महाविष्णु यज्ञ को देखने गया था। लेकिन देर रात तक नही लौटा तो उसकी खोजबीन की गई। बाद में उसकी हत्या हो जाने की खबर मिली तो परिवार में कोहराम मच गया। उसके दाहिने हाथ पर गोदना से लिखा संतोष व उसकी पत्नी के नाम उषा लिखे होने की सूचना पर शव की शिनाख्त करने पहुंचे थे। इधर, मामले में बाजपट्टी थाने के चौकीदार अमरेश कुमार के बयान पर अज्ञात व्यक्ति के खिलाफ एफआईआर की गई है। थानाध्यक्ष सरोज कुमार ने बताया कि मृतक के परिजन की ओर से मामले को लेकर अब तक कोई आवदेन नही दिया गया है।

यह हिन्दुस्तान अखबार की ऑटेमेटेड न्यूज फीड है, इसे लाइव हिन्दुस्तान की टीम ने संपादित नहीं किया है।