DA Image
हिंदी न्यूज़   ›   बिहार  ›  सीतामढ़ी  ›  लैब टेक्नीशियन मनोज के लिए खलिहान बना ‘वनवास

सीतामढ़ीलैब टेक्नीशियन मनोज के लिए खलिहान बना ‘वनवास

हिन्दुस्तान टीम,सीतामढ़ीPublished By: Newswrap
Tue, 01 Jun 2021 03:20 PM
लैब टेक्नीशियन मनोज के लिए खलिहान बना ‘वनवास

सीतामढ़ी | सक्षम वर्मा

कोरोना वायरस ने जिंदगी के मायने बदल दिए है। इस काल में बदरंग जिंदगी और शर्मसार होते रिश्तों की अलग-अलग तस्वीरें देखने को मिली। हालांकि, कुछ ऐसी भी तस्वीरें सामने आती रही है जो दूसरों के लिए प्रेरणा बन गई है। कुछ ऐसी ही प्रेरणादायक है डुमरा पीएचसी में लैब टेक्नीशियन के पद पर तैनात मनोज मधुकर की दास्तान। लाखों की जिंदगी के लिए मनोज ने जहां घर-परिवार से दूरी बना ली, वहीं पत्नी-बच्चे समेत परिजनों के लिए पिछले कई महीनों से वनवास झेल रहे हैं। परिवार का कोई सदस्य संक्रमित नहीं हो इसके लिए मनोज अपने घर नहीं जाते हैं। अस्पताल से गांव लौटने के बाद वह गांव से दूर एक बगीचे में बांस से बने ढांचे के नीचे रात गुजारते हैं। इस ढांचे में बांस का भी बेड बना है। यही से परिवार की जानकारी लेते है और फिर अगली सुबह अस्पताल निकल जाते हैं।

मनोज की यह पहल प्रेरणादायी बन गई है। वह अपनी इस पहल से सेवा, समर्पण और जिम्मेदारियों के निर्वहन का संदेश दे रहे हैं। मनोज मूल रूप से रून्नीसैदपुर प्रखंड के चकवा गांव के रहने वाले हैं। डुमरा पीएचसी में वह लैब टेक्नीशियन हैं। कोरोना की दूसरी लहर में उनकी जिम्मेदारी बढ़ गई। डुमरा पीएचसी में वह पिछले साल की तरह रोजाना सैकड़ों लोगों का सैंपल लेकर कोरोना जांच करते रहे हैं। दूसरी लहर का कहर कुछ ज्यादा होने और संक्रमण का फैलाव अधिक होने से मनोज ने घर में प्रवेश करने से खुद को रोक लिया। बुजुर्ग माता पिता, पत्नी और एक बेटे को सुरक्षित रखने के लिए पत्नी की रजामंदी से उन्होंने अपने घर से कुछ दूर स्थित बैठका में अपना डेरा डाल दिया।

गांव में भी चला रहे जागरूकता अभियान

गांव में लोग जानते हैं कि मधुकर कोरोना की जांच करते है। डुमरा से देर शाम को जब घर लौटते हैं तो बैठका पर लोग उनका इंतजार करते रहते हैं। ये वहीं लोग होते हैं जो सर्दी खांसी आदि समस्या से पीड़ित होते है। इनके सुझाव पर गांव के लोग जांच भी कराते हैं और टीकाकरण कराने के लिए भी तैयार रहते हैं। इन्होंने माता-पिता के साथ गांव के अधिकांश लोगों को टीका लेने लिए प्रेरित किया।

संबंधित खबरें