ट्रेंडिंग न्यूज़

अगला लेख

अगली खबर पढ़ने के लिए यहाँ टैप करें

Hindi News बिहार सीतामढ़ीसीतामढ़ी देश में कालाजार उन्मूलन में मॉडल जिला : डीएम

सीतामढ़ी देश में कालाजार उन्मूलन में मॉडल जिला : डीएम

सीतामढ़ी, हमारे प्रतिनिधि। जिला भीबीडीसी कार्यालय में आईआरएस प्रथम चक्र का शुभारंभ डीएम रिची...

सीतामढ़ी देश में कालाजार उन्मूलन में मॉडल जिला : डीएम
हिन्दुस्तान टीम,सीतामढ़ीMon, 27 May 2024 11:45 PM
ऐप पर पढ़ें

सीतामढ़ी, हमारे प्रतिनिधि। जिला भीबीडीसी कार्यालय में आईआरएस प्रथम चक्र का शुभारंभ डीएम रिची पांडेय, सिविल सर्जन डॉ. केके झा, डीपीआरओ कमल सिंह व जिला भीबीडीसी पदाधिकारी डॉ. रविंद्र कुमार यादव ने दीप प्रज्वलित कर किया। डीएम ने कहा कि सीतामढ़ी जिला कालाजार उन्मूलन में देश के लिए मॉडल रहा। इसके बाद भी हमें सचेत रहना है। वेक्टर बॉर्न रोग कभी भी अपना पांव पसार सकता है। उन्होंने छिड़काव दल को हरी झंडी दिखाकर रवाना किया और लोगों से छिड़काव दल का सहयोग करने की अपील की। सीएस डॉ. झा ने कहा कि कालाजार फैलाने वाले बालू मक्खी के नाश के लिए सरकार वर्ष में दो बार आईआरएस चक्र चलाया जाता है। डीएम ने रजिस्टर का अनावरण और पौधरोपण भी किया।

प्रतिवर्ष 40-50 फीसदी कम हो रहे मरीज:

जिला भीबीडीसी पदाधिकारी ने बताया कि जिला विगत छह वर्षों से कालाजार मुक्त की स्थिति को यथावत रखी हुई है। साथ ही रोग के संचरण पर भी रोक लगाई हुई है। प्रतिवर्ष 40-50 फीसदी रोगियों की कमी आयी है। वर्ष 2020 में जिला में 61 मरीज, 2021 में 39 मरीज, 2022 में 17 मरीज, 2023 में नौ व वर्ष 2024 में अभी तक सिर्फ दो मरीज की पहचान हुई है।

आईआरएस प्रथम चक्र की शुरुआत :

कालाजार मुक्त की स्थिति को यथावत रखने के लिए जिले में सोमवार से आईआरएस प्रथम चक्र की शुरुआत की गई। इस चक्र के तहत 14 प्रखंड के 62 कालाजार प्रभावित गांवों के एक लाख 15 हजार 552 घरों में सिंथेटिक पॉयराथॉयराइड का छिड़काव किया जाएगा। मालूम हो कि राज्य से चार वर्ष पहले 2018 में ही जिले ने कालाजार मुक्त की स्थिति प्राप्त कर ली थी। इस अवसर पर डुमरा के प्रभारी चिकित्सा पदाधिकारी डॉ. अक्षय कुमार, डीपीएम असीत रंजन, भीडीसीओ प्रिंस कुमार, पवन कुमार, एफएलए रजनीश कुमार, भीबीडीएस राकेश कुमार आदि उपस्थित थे।

यह हिन्दुस्तान अखबार की ऑटेमेटेड न्यूज फीड है, इसे लाइव हिन्दुस्तान की टीम ने संपादित नहीं किया है।