DA Image
30 नवंबर, 2020|8:30|IST

अगली स्टोरी

रेल कर्मियों ने 12 घंटे रखा उपवास

रेल कर्मियों ने 12 घंटे रखा उपवास

पूर्व मध्य रेलवे के बैरगनिया रेलवे स्टेशन पर कार्यरत स्टेशन मास्टर सहित अन्य रेल कर्मियों ने ने रात्रि ड्यूटी भत्ता बंद करने व जुलाई 17 से भुगतान किए गए रात्रि ड्यूटी भत्ता की कटौती के विरोध में 12 घंटे का उपवास रखा। भूख हड़ताल पर बैठे स्टेशन अधीक्षक रामनाथ ठाकुर ने बताया कि रात्रि ड्यूटी भत्ता बंद करने के विरोध में इससे पहले 15 अक्टूबर को कैंडल जलाकर, 20 से 26 अक्तूबर तक काला बिल्ला लगाकर विरोध किया गया था। उन्होंने बताया कि भूख हड़ताल के बावजूद भी अगर रेल प्रशासन रात्रि ड्यूटी भत्ता पर लगी रोक को नहीं हटाती है तो पूरे देश मे रेल कर्मी रेल का चक्का जाम करेंगे। शनिवार की सुबह छह से शाम छह बजे तक भूख हड़ताल पर बैठने वालों में स्टेशन अधीक्षक आरएन ठाकुर, स्टेशन मास्टर जयशंकर कुमार, केशव कुमार, वाणिज्य अधीक्षक शिवशंकर राम, वाणिज्य लिपिक मनोज चौधरी, बृज किशोर, कांटा वाला उमाशंकर राय, सद्दाम, बिरेन्द्र कुमार, नन्दन कुमार, सफाई कर्मी बैजनाथ पासवान शामिल थे। भूख हड़ताल पर बैठे रेल कर्मियों ने आरोप लगाया है रेल मंत्रालय व केंद्र सरकार रेलवे को निजीकरण करना चाह रही है। रेल कर्मी सरकार की मंशा को कामयाब नहीं होने देगी।

  • Hindi News से जुड़े ताजा अपडेट के लिए हमें पर लाइक और पर फॉलो करें।
  • Web Title:Railway personnel fasted for 12 hours