DA Image
7 जनवरी, 2021|4:54|IST

अगली स्टोरी

नवनिर्मित पुल उद्घाटन करने आए ढ़ाका विधायक का किया विरोध, प्रदर्शन

नवनिर्मित पुल उद्घाटन करने आए ढ़ाका विधायक का किया विरोध, प्रदर्शन

1 / 2बैरगनिया को पूर्वी चंपारण से जोड़ने वाली लालबकैया नदी के जमुआ घाट पर गुरूवार को अधूरे नवनिर्मित सड़क पुल के उद्घाटन करने पहुंचे विधायक को ग्रामीणों ने विरोध किया। ढाका के राजद विधायक फैसल रहमान का...

नवनिर्मित पुल उद्घाटन करने आए ढ़ाका विधायक का किया विरोध, प्रदर्शन

2 / 2बैरगनिया को पूर्वी चंपारण से जोड़ने वाली लालबकैया नदी के जमुआ घाट पर गुरूवार को अधूरे नवनिर्मित सड़क पुल के उद्घाटन करने पहुंचे विधायक को ग्रामीणों ने विरोध किया। ढाका के राजद विधायक फैसल रहमान का...

PreviousNext

बैरगनिया को पूर्वी चंपारण से जोड़ने वाली लालबकैया नदी के जमुआ घाट पर गुरूवार को अधूरे नवनिर्मित सड़क पुल के उद्घाटन करने पहुंचे विधायक को ग्रामीणों ने विरोध किया। ढाका के राजद विधायक फैसल रहमान का ग्रामीणों ने काला झंडा दिखाते हुए वापस जाओ के नारे लगाये। लोगों का कहना है कि विधायक चुनावी लाभ लेने के चक्कर में सीतामढ़ी जिले के हिस्से में आने वाले पुल पर अपना अधिकार क्षेत्र बताकर आधा-अधूरा निर्माण पर ही उद्घाटन कर दिया। ग्रामीणों के विरोध के बाद विधायक वापस लौट गये। तथाकथित उद्घाटन से स्थानीय लोगों में काफी आक्रोश है।

जबकि संबंधित विभाग की स्वीकृति द्वारा कार्य को पूर्ण भी नहीं कराया गया है। उधर, प्रखंड के जमुआ पंचायत सहित आसपास के सैकड़ों ग्रामीणों की भीड़ सूचना पर जुट गई। विरोध में जमुआ पुल को बांस-बल्ला लगाकर चार घंटे तक जाम कर आवागमन को अवरुद्ध कर दिया। विधायक वापस जाओ का नारा बुलंद करते हुए काला झंडा दिखाकर प्रदर्शन शुरू कर दिया। विरोध के बावजूद लाव लश्कर के साथ पहुंचे विधायक ने जैसे-तैसे पूर्वी चंपारण साइड से फीता काटकर उद्घाटन कर वापस लौट गए। जमुआ पंचायत के मुखिया प्रतिनिधि विजय साह, जितेंद्र साह, प्रमोद कुमार, विनेश कुमार आदि के नेतृत्व में तथाकथित उद्घाटन के विरोध में सड़क जाम की सूचना पर बीडीओ विजय कुमार मिश्रा, सीओ अमित कुमार, एएसआई रंजीत कुमार सिंह सशस्त्र बल के साथ मौके पर पहंुचकर ग्रामीणों को समझा कर सड़क जाम समाप्त कराया। इस दौरान चार घंटे तक बैरगनिया-पूर्वी चंपारण के बीच आवागमन ठप रहा। मुखिया प्रतिनिधि विजय ने बताया कि यह पुल राजस्व ग्राम जमुआ के अंर्तगत आता है। परन्तु, चुनावी फायदे के लिये ढाका के विधायक बिना विभागीय आदेश के ही पुल का उद्घाटन करने पहुंच गए थे। हद तो तब हो गयी जब विधायक ने उद्घाटन का शिलापट्ट खुद से बनवाकर उस पर अपना व संवेदक का नाम लिखकर फीता भी काट दिया।

सूचना पर पहुंचे दो जिले के अधिकारी:

सूचना पर पूर्वी चंपारण के सिकरहना एसडीओ ज्ञान प्रकाश, डीएसपी व सशस्त्र बल के साथ जमुआ घाट पर पहुंचकर स्थिति का जायजा लिया। एसडीओ ने फोन पर बताया कि जमुआ सड़क पुल का निर्माण अभी पूर्ण नहीं हुआ है। उद्घाटन व विरोध, हंगामा की सूचना के आलोक में निरीक्षण किया। साथ ही विधि व्यवस्था को लेकर पचपकड़ी थाने की पुलिस को आवश्यक निर्देश दिया।

पुल बनने पर ही हो रहा आवागमन:

ढ़ाका विधायक फैसल रहमान ने बताया कि पुल बनकर तैयार है। उसपर कालीकरण का काम बांकी है। पुल बना है तब ही आवागमन हो रहा है। हालांकि वे क्षेत्राधिकार पर कुछ स्पष्ट बयान नहीं दिया। उधर, रीगा के पूर्व विधायक मोतीलाल प्रसाद ने विधायक फैसल द्वारा किये गए तथाकथित उद्घाटन को हास्यास्पद बताते हुए कहा कि सड़क पुल का निर्माण पूर्ण होने के बाद उसके उद्घाटन की विधिवत सूचना प्रकाशित होकर ही उद्घाटन किया जाता है। वहीं

बयान::

पुल सीतामढ़ी जिला का हिस्सा है और इसका राजस्व ग्राम बैरगनिया प्रखंड का जमुआ गांव है। उद्घाटन का आदेश प्रदेश व जिला प्रशासन को निर्गत करना है। बिना विभागीय निर्देश के ही पुल का अवैध तरीके से उद्घाटन किया गया है।

- विजय कुमार मिश्र, बीडीओ, बैरगनिया।

बयान::

घटना की सूचना मिलने पर स्थल का निरीक्षण कर वरीय अधिकारी को पूरी जानकारी उपलब्ध करा दिया गया है। दिशा निर्देश मिलने पर अग्रेतर कार्रवाई की जा सकती है।

- ज्ञान प्रकाश, एसडीओ, सिकहरना, पूर्वी चंपारण।

  • Hindi News से जुड़े ताजा अपडेट के लिए हमें पर लाइक और पर फॉलो करें।
  • Web Title:Protest against the Dhaka MLA who came to inaugurate the newly constructed bridge protest