DA Image
9 अगस्त, 2020|1:48|IST

अगली स्टोरी

शिक्षकों के साथ खिलवाड़ किया जा रहा:संघ

default image

एससी-एसटी शिक्षक संघ बिहार प्रदेश अध्यक्ष अमित कुमार ने बयान जारी कर सरकार पर शिक्षकों के जिंदगी के साथ खिलवाड़ करने का आरोप लगाया है। साथ ही लॉकडाउन में बच्चों के अभिभावकों को स्कूल में बुलाकर चावल वितरण कार्य का विरोध किया है।

उन्होंने कहा है कि सरकार के इशारे पर शिक्षा विभाग के अधिकारी शिक्षकों के जिंदगी के साथ खिलवाड़ कर रहे हैं। एक ओर जहां कोरोना संक्रमण का प्रकोप तेजी से बढ़ रहा है, वहीं दूसरी ओर बिहार सरकार चुनावी लाभ लेने के लिए शिक्षा विभाग द्वारा तरह-तरह की पत्र जारी करवा कर शिक्षकों के जिंदगी से खिलवाड़ करने का काम कर रही है। उन्होंने कहा है कि भारत सरकार के गृह मंत्रालय द्वारा जहां 31 जुलाई तक शिक्षकों एवं बच्चों को स्कूल आने से मना किया गया है, वहीं शिक्षा विभाग के अपर मुख्य सचिव एवं एमडीएम के निर्देशक द्वारा बच्चों के लिए अभिभावकों को स्कूल में बुलाकर चावल बांटने का आदेश दिया गया है।जबकि सभी जिलों में 31 जुलाई तक संपूर्ण लॉकडाउन लागू किया गया है।ऐसे में सरकार स्वयं अपने आदेश द्वारा लॉकडाउन तोड़वाकर संक्रमण फैलाने का कुचक्र किया जा रहा है। प्रदेश अध्यक्ष ने कहा है कि स्कूलों में फरवरी में ही चावल का भंडारण किया गया था।जो खराब हो गया है।इसका वितरण के लिए अभिभावकों को स्कूल में बुलाने पर कोई भी अनहोनी घटना हो सकती है।उन्होंने कहा है कि कोरोना संक्रमण के कारण एक और जहां डॉक्टर समेत कई नामचीन हस्तियां करोना काल में मौत के मुंह में समा चुके हैं, तो फिर स्कूल में भीड़ लगाकर शिक्षकों से चावल का वितरण करवाना शिक्षकों के जिंदगी से खिलवाड़ नहीं तो और क्या है।संघ के जिलाध्यक्ष जीतेंद्र राम ने कहा है कि जिले में शिक्षकों से चावल वितरण का विरोध किया जाएगा।