DA Image
2 दिसंबर, 2020|6:08|IST

अगली स्टोरी

कीट लगने से धान की फसल बर्बाद

कीट लगने से धान की फसल बर्बाद

धान के फसल में ब्राउन प्लांट हॉपर कीट के प्रकोप बढ़ गया है। इससे जिले की 70 प्रतिशत धान की फसल बर्बाद होकर काला हो चुकी है। धान काटने में काला व पीला जहरीला धूल निकलने से कटनी व खेत खाली करने में परेशानी हो रही है। संयुक्त किसान संघर्ष मोर्चा की टीम ने धान के खेतों का जायजा लेने के बाद इसकी जानकारी मिली है। टीम के सदस्यों ने मोर्चा के उतर बिहार अध्यक्ष डॉ. आनंद किशोर व जिला अध्यक्ष जलंधर यदुवंशी ने बिहार के कृषि सचिव को मेल कर इसकी जानकारी दी है। उसकी प्रतिलिपि डीएम के अलावा सीएम को भेजा गया है। इसमें धान की बर्वादी का शीघ्र आंकलन कराकर किसानों को क्षति की भरपाई कराने की मांग की गई है। साथ ही बताया गया है कि अगस्त के अंत में बेमौसम हुई भारी वर्षा से आई बाढ़ व जलजमाव से धान की फसल डूब गई। इससे कीट के प्रकोप से दुबारा की गई धान की खेती पूरी तरह बर्बाद हो गई। इससे पूर्व भी बाढ़ से फसल बर्बाद हो चुकी थी। वैसे फरवरी माह से लगातार भारी वर्षा, तेज आंधी तथा ओलावृष्टि से दलहन, तिलहन, फल, सब्जी की फसल बर्बाद हो चुकी थी। बार-बार कर्ज लेकर खेतो में पूंजी लगाना, फिर फसल नष्ट होने के बाद भी सरकार द्वारा फसल क्षति, इनपुट अनुदान, फसल, बीमा की राशि नहीं मिलने से किसानों का जीवन संकट मे है। सरकार का संरक्षण नहीं मिला तो खेतिहर मरने को विवश होंगे।